टीएस ने कहा..बनुंगा छत्तीसगढ़ का CM…भूपेश ने बताया….निपटाने वाला बाहर ..CM ने दावेदारों को किया साइड

बिलासपुर– एक बार फिर भूपेश ने कहा कि पार्टी में अब सब ठीक है। आस्तीन का सांप भी बाहर है। पिछले तीन चुनावों में पार्टी को बरबाद करने वाले को बाहर कर दिया गया है। जिसे सीएम बनाया आस्तीन के सांप ने पार्टी को नुकसान पहुंचाया है।  हर व्यक्ति पद की दावेदारी कर सकता है। बिलासपुर जिला कांग्रेस को बधाई देते हुए कहा कि पिछले कुछ दिनों से जगह जगह आयोजित कार्यक्रमों में कार्यकर्ता उत्साहित हैं। भूपेश ने कहा कि हमारे नेताओं में खींचतान नहीं है। बल्कि भाजपा में जितने लोग सीएम पद के दावेदार थे..उन्हें रमन सिंह ने साइड लाइन में लगा दिया है।

                        भूपेश ने कोटा विधानसभा के नेताओं और कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं में मनमुटाव से इंकार किया। इस दौरान टीएस सिंहदेव ने कहा कि मानव स्वभाव के कारण मैं भी छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री का दवेदारा हूं। लेकिन हमारे यहां सीएम प्रोजेक्ट नहीं किया जाता है।

                    कोटा विधानसभा संकल्प शिविर में शामिल होने से पहले भूपेश बघेल,टीएस सिंहदेव बिलासपुर कांंग्रेस भवन में पत्रकारों से रूबरू हुए। इस दौरान डॉ.चंदन यादव,विधायक दिलीप लहरिया,अभय नारायण राय, नरेद्र बोलर,शेख गफ्फार समेत कई कांग्रेस नेता मौजूद थे।

                पत्रकारों के सवालों का जवाब देते हुए भूपेश ने कहा कि जितना सच मोदी और जोगी के पास अमित होने का है। उतना ही सच आस्तीन के सांप ने कांग्रेस को बहुत नुकसान पहुंचाया है।  साल 2000 में पार्टी ने मुख्यमंत्री बनाया। लगातार तीन बार पार्टी को हार मिली। । संगटन को बुरी स्थिति तक पहुंंचा दिया।  अब आस्तीन के सांप को बाहर कर दिया गया है। कार्यकर्ताओं में उत्साह है।

                  जैसे जैसे समय नजदीक आ रहा है दावेदारों की संख्या बढ़ती जा रही है। मंसूबे भी सामने आने लगे हैं। भूपेश ने सवाल के जवाब में कहा कि अच्छी बात है।  दावेदारी  हमारी ताकत है। प्रजातंत्र  में सबको दावेदारी का अधिकार भी है।  बीच में सवाल को क्लीयर करते हुए टीएस ने कहा कि कांग्रेस ही नहीं बल्कि किसी भी राजनीतिक पार्टी में चुनाव से पहले सीएम को प्रोजेक्ट नहीं किया जाता है।

                          सवाल का जवाब देते हुए भूपेश ने कहा कि कांग्रेस में दावेदारों का सम्मान है। चाहे सीएम  का ही दावेदार क्यों ना हो। भारतीय जनता पार्टी में डॉ.रमन सिंह सीएम का एक मात्र चेहरा है। जिसने दावेदारी की उसे साइड लाइन लगा दिया गया। दिलीप सिंह जूदेव,नन्दकुमार साय, बृजमोहन अग्रवाल,रामविचार कुछ ऐसे ही उदाहरण हैं।

                  पेन्ड्रा जाने से रोके जाने पर कोटा विधानसभा में दावेदारों में तलवारवाजी की स्थिति आ गयी। हंसते हुए भूपेश ने कहा कि पेन्ड्रा में 60 बूथ कोटा विधानसभा से आता है। दावेदारों को नाम मंच से प़ढ़ा गया है। मरवाही विधानसभा के दावेदारों को मंच पर बैठाया गया था। नेताओं में तनाव या तलवारबाजी  की स्थिति नहीं है। कोटा संकल्प शिविर में दावेदारों को मंच दिया जाएगा।

                              क्या सरगुजा के लिए सीएम बनना चाहते हैं…या फिर छत्तीसगढ़ का मुख्यमंत्री…टीएस सिहदेव ने  कहा कि भाजपा नेताओं ने हमारे बयान को तोड़मरोड़कर पेश किया है। सरगुजा का विधायक हूं..विकास कार्य करना हमारी प्राथमिकता है। पिछले चुनाव में भाजपा ने षड़यत्र कर कांग्रेस से मुख्यमंत्री का दावेदार अजीत जोगी को बनाकर पोस्टर में स्थान दिया। जिससे पार्टी को नुकसान हुआ है। इस बार भी ऐसा ही कुछ किया जा रहा है।

         टीएस ने बताया कि मैने अपने बयान में कहा है कि मुख्यमंत्री बनने की लाइन में हूं। कौन नहीं बनना चाहेगा छत्तीसगढ का मुख्यमंत्री। सोचना मानव का स्वभाव है। जो भी विधायक सीएम बनेगा उसके क्षेत्र का विकास अपेक्षाकृत अधिक होगा। लेकिन  हमारे यहां सीएम नाम प्रोजक्ट नहीं किया जाता है। इसका फायदा उठाकर भाजपा नेता हमेशा किसी का भी नाम उछाल देते हैं। ताकि कांग्रेस बैकफुट पर आ जाए। इस प्रकार का बयान मैंसाल भर से देता आ रहा हूं।

                         क्या चुनाव जीतने के लिए बंदूक,लाठी,हसिया जरूरी है। जैसा की आपका विधायक कहता है…भूपेश ने कहा कि  भाजपा की नीयत कुछ ऐसी ही है। हम लोग बैलेट पर विश्वास करते हैं।  झीरम घाटी में कांग्रेस के अग्रिम पंक्ति के नेता साफ हो गए। जब भी चुनाव आता है मुख्यमंत्री विकास देखने के लिए दंतेवाड़ा जाने को कहते हैं। मुझे भी कहा है…प्रश्न उठता है कि  मुख्यमंत्री मुझे दंतेवाड़ा जाने की सलाह क्यों दे रहे हैं…25 मई भी आने वाला है।

          हमारे विधायक ने भाजपा की नीयत के बारे में बताया है। लेकिन भाजपा किस नीयत से लेती हैं..वे लोग समझे। विधायक ने तो झीरम काण्ड को ध्यान में रखने की बात कही है। सीएम दावेदार क्या एक दूसरे को निपटाने का काम कर रहे हैं। भूपेश ने बताया कि कांग्रेस नेता अब एक दूसरे को जिताने का काम कर रहे हैं। निपटाने वाला तो पार्टी से बाहर चला गया है।

51 हजार का चेक भेंटौशिक

बेलतरा विधानसभा के दावेदार रमेस कौशिक,जसबीर गुम्बर समेत आधा दर्जन लोगों ने 51 हजार रूपए का चेक टीएस और भूपेश को दिया। इस राशिक का उपयोग रायपुर स्थित कांग्रेस कार्यालय के जीर्णाद्धार में किया जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *