राष्ट्रव्यापी ग्राम स्वराज अभियान,छत्तीसगढ़ के 20 हजार गांवों में 18 अप्रैल को मनाया जाएगा स्वच्छ भारत दिवस

रायपुर।राष्ट्रव्यापी ग्राम स्वराज अभियान के तहत छत्तीसगढ़ की सभी दस हजार 971 ग्राम पंचायतों के लगभग बीस हजार गांवों में बुधवार 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस मनाया जाएगा। इस अवसर पर सभी ग्राम पंचायतों में जनभागीदारी से स्वच्छता के विषय पर जनजागरण के लिए कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। ऐसी ग्राम पंचायतें, जो अब तक खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) घोषित नहीं हो पायी है, उनमें स्वच्छता के लिए ग्रामीणों के सहयोग से जनआंदोलन चलाया जाएगा। मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने प्रदेश के सभी पंच-सरपंचों और ग्रामीणों से 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस के आयोजनों में सक्रिय भागीदारी की अपील की है। पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री श्री अजय चंद्राकर ने भी इन आयोजनों में पंचायत प्रतिनिधियों और आम जनता से सहयोग का आव्हान किया है।उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की सर्वोच्च प्राथमिकता वाले स्वच्छ भारत मिशन के शुरू होने के लगभग साढ़े तीन वर्ष के भीतर छत्तीसगढ़ की दस हजार 971 ग्राम पंचायतों में से दस हजार 725 ग्राम पंचायतें खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) होने की स्थिति में आ चुकी हैं। इन ग्राम पंचायतों के 18 हजार 769 गांव भी ओडीएफ ग्राम बनने की स्थिति में आ गए हैं। राज्य के नक्सल प्रभावित इलाकों की ग्राम पंचायतों को भी ओडीएफ घोषित करने के लिए जनसहयोग से लगातार प्रयास किए जा रहे हैं। यह मिशन राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती पर दो अक्टूबर 2014 से शुरू हुआ है। उनकी 150वीं जयंती पर दो अक्टूबर 2019 तक इस मिशन के तहत पूरे देश को खुले में शौच की प्रथा से मुक्त करने का लक्ष्य है, लेकिन मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने इस मिशन में प्रदेशवासियों के भरपूर सहयोग को देखते हुए छत्तीसगढ़ को राष्ट्रीय लक्ष्य से एक वर्ष पहले की दो अक्टूबर 2018 तक ’उज्जर-सुग्घर हमर छत्तीसगढ़’ के रूप में शत-प्रतिशत ओडीएफ बनाने का लक्ष्य तय किया है।

केन्द्रीय पंचायती राज मंत्रालय नई दिल्ली के दिशा-निर्देशों के अनुरूप छत्तीसगढ़ सरकार के पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग के अपर मुख्य सचिव आर.पी. मंडल ने  मंत्रालय से ग्राम स्वराज अभियान के सुचारू आयोजन के लिए सभी जिला कलेक्टरों को परिपत्र जारी किया है। इसमें अभियान के तहत 14 अप्रैल से 05 मई के बीच अलग-अलग दिनों में किए जाने वाले आयोजनों के संबंध में जिला कलेक्टरों को आवश्यक निर्देश दिए गए हैं। यह भी उल्लेखनीय है कि राष्ट्रव्यापी ग्राम स्वराज अभियान छत्तीसगढ़ में भी दो दिन पहले अम्बेडकर जयंती के अवसर पर 14 अप्रैल को शुरू हो चुका है, जो पांच मई तक चलेगा। प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने स्वयं उस दिन छत्तीसगढ़ के ग्राम जांगला (जिला – बीजापुर) की विशाल जनसभा में इस राष्ट्र व्यापी अभियान के शुभारंभ की घोषणा की थी। अभियान के तहत 14 अप्रैल को सामाजिक न्याय दिवस मनाए जाने के बाद 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग द्वारा आयोजित किया जाएगा। इसके अंतर्गत ग्राम पंचायत, विकासखण्ड और जिला स्तर पर कई आयोजन होंगे।

पंचायत विभाग के संचालक तारण प्रकाश सिन्हा ने बताया कि स्वच्छ भारत दिवस के अवसर पर 20 अप्रैल को प्रदेश भर में ग्राम पंचायत, जनपद पंचायत (विकासखण्ड) और जिला स्तर पर स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत सर्वश्रेष्ठ कार्य करने वाले जनप्रतिनिधियों, स्वच्छता चैम्पियनों, अधिकारियों, कर्मचारियों और नागरिकों को सम्मानित किया जाएगा। जनजागरण के लिए साईकिल और मोटरसाईकिल रैली, मानव श्रृंखला, स्वछता रथ जैसे आयोजन होंगे। विकासखण्डों में ओडीएफ स्थायित्व के लिए कार्यशालाओं का आयोजन किया जाएगा। साथ ही जिला और ब्लॉक स्थर पर ठोस तथा तरल कचरे के प्रबंधन को लेकर भी कार्यशालाएं होंगी। स्वच्छता के लिए सामूहिक श्रमदान के जरिए सार्वजनिक स्थलों की साफ-सफाई की जाएगी। ग्राम सभाओं में स्वच्छता पर चर्चा होगी और स्वच्छता मतदान तथा रात्रि चौपालों का आयोजन भी किया जाएगा। स्कूलों में स्वच्छता के विषय पर विभिन्न प्रतियोगिताएं भी होंगी। जिन स्थानों की साफ-सफाई हो चुकी है, वहां तुलसी और पीपल के पौधे भी लगाए जाएंगे। गांवों में ओडीएफ वर्षगांठ भी मनाई जाएगी।

उन्होंने बताया कि अभियान के निर्धारित कार्यक्रमों के तहत 20 अप्रैल को खाद्य विभाग द्वारा उज्ज्वला दिवस का आयोजन किया जाएगा। उस दिन ग्राम पंचायत, विकासखण्ड और जिला स्तर पर समारोह आयोजित किए जाएंगे, जिनमें प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना के तहत हितग्राहियों को एलपीजी गैस सिलेण्डर वितरित किए जाएंगे। साथ ही इस योजना की विस्तारित श्रेणियो के लिए के.वाय.सी. फार्म भी संकलित किए जाएंगे। उज्ज्वला दिवस के दौरान ग्राम पंचायतों के स्तर पर एलपीजी पंचायत बैठकों का आयोजन किया जाएगा, जिनमें लाभार्थियों को स्वर्च्छ इंधन के उपयोग और उससे सेहत को होने वाले फायदे की जानकारी दी जाएगी।

उन्होंने यह भी बताया कि ग्राम स्वराज अभियान के निर्धारित कार्यक्रमों के अनुसार 24 अप्रैल को राष्ट्रीय पंचायती राज दिवस और 28 अप्रैल को ग्राम स्वराज दिवस, सभी ग्राम पंचायतों में पंचायत और ग्रामीण विकास विभाग द्वारा आयोजित किया जाएगा। अभियान के तहत स्वास्थ्य और परिवार कल्याण विभाग की ओर से 30 अप्रैल को आयुष्मान भारत दिवस, कृषि विभाग द्वारा दो मई को किसान कल्याण दिवस और पंचायत एवं ग्रामीण विकास तथा कौशल विकास विभाग द्वारा पांच मई को आजीविका दिवस का आयोजन किया जाएगा। अभियान के तहत मनाए जाने वाले प्रत्येक विशेष दिवस के लिए केन्द्रीय पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्रालय द्वारा सभी राज्यों को तारीखवार होने वाली गतिविधियों की भी जानकारी दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *