मई में सरकार बांटेगी स्मार्ट फोनः डॉ. रमन बोले – कॉलेज में पढ़ने वालों को भी मिलेगा स्मार्ट फोन

 

रायपुर ।  मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि छत्तीसगढ़ सरकार सिर्फ नारे नहीं लगाती बल्कि अपनी योजनाओं के जरिए गरीबी के खिलाफ लड़ने के लिए गरीबों की मदद करती है। सरकार की योजनाएं आम जनता के जीवन में परिवर्तन लाने के लिए हैं और सर्व समाज की बेहतरी के लिए हैं। प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी ने देश में गांव, गरीब और किसानों के विकास को सर्वोच्च प्राथमिकता दी है और इसके लिए कई योजनाओं की शुरूआत की है।
मुख्यमंत्री सोमवार को दोपहर सरगुजा जिले के ग्राम-बटवाही (विकासखण्ड-लुण्ड्रा) में प्रगति और आवास मेले का शुभारंभ करने के बाद विशाल जनसभा को संबोधित कर रहे थे। डॉ. सिंह ने कहा-सरकार की योजनाओं से विगत लगभग दस वर्ष में सरगुजा की तस्वीर काफी बदल गई है। पूरे सरगुजा संभाग में सड़कों और पुल-पुलियों का जाल बिछाया जा रहा है। सरगुजा विकास की ऊंचाईयों को छू रहा है। उन्होंने बटवाही में इस विशाल आयोजन का उल्लेख करते हुए कहा-इतनी बड़ी संख्या में जनता की उपस्थिति विकास योजनाओं के प्रति लगातार बढ़ती जनभागीदारी का परिचायक है। डॉ. सिंह ने कहा-अकेले सरगुजा संभाग में इस समय 670 करोड़ रूपए की सड़के बन रही हैं। संभागीय मुख्यालय अम्बिकापुर में एयरपोर्ट निर्माण के लिए शासन द्वारा 23 करोड़ 53 लाख रूपए मंजूर किए गए, जिसका निर्माण तेजी से पूर्णता की ओर है। रेल और रोड कनेक्टिविटी के बाद सरगुजा बहुत जल्द विमान यातायात सेवाओं से भी जुड़ जाएगा। डॉ. रमन सिंह ने प्रगति और विकास मेले में जन प्रतिनिधियों के आग्रह पर ग्राम रघुनाथपुर में नए बए स्टैण्ड के निर्माण, ग्राम पंचायत बटवाही, लामगांव और रघुनाथपुर में सीमेंट कांक्रीट सड़क की मंजूरी देने की घोषणा की।

डॉ. सिंह ने इस अवसर पर ऐलान किया कि राज्य सरकार अपनी संचार क्रांति योजना के तहत 55 लाख लोगों को स्मार्ट फोन वितरण का कार्य अगले मई माह के अंत में शुरू कर देगी। विकास यात्रा के दौरान स्मार्ट फोन वितरित किए जाएंगे। हमने तय किया है कि बी.ए., बी.एस-सी., बी.कॉम., एम.एम., एम.कॉम. सहित स्नातक और स्नातकोत्तर कक्षाओं के विद्यार्थियों को भी निःशुल्क स्मार्ट फोन देंगे। जनसभा को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा-गरीबी उन्मूलन और जनता का सामाजिक, आर्थिक विकास कैसे होता है यह देखना हो तो को छत्तीसगढ़ में हो रहे कार्यों को देखना चाहिए। सरगुजा सहित प्रदेश के सभी इलाकों में सड़कों का जाल बिछाया जा रहा है। राज्य के जिन गरीब परिवारों को कभी कनकी (चावल के टुकड़े) खाकर गुजारा करना पड़ता था, आज उन्हें सिर्फ एक रूपए किलो में चावल मिल रहा है। उन्होंने बटवाही के प्रगति और विकास मेले में एक ही स्थान पर 8 हजार से ज्यादा हितग्राहियों को विभिन्न योजनाओं का लाभ मिलने का उल्लेख करते हुए कहा कि इस आयोजन में प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत एक साथ चार हजार 792 परिवारों को मकान स्वीकृति पत्र दिए गए हैं। यह इस बात का परिचायक है कि ये परिवार अब एक नये युग में प्रवेश कर रहे हैं। उन्हें कहीं भटकने या मकान के लिए किसी भी व्यक्ति के आगे पीछे घूमने की जरूरत नही है। योजना के तहत उनको लगभग डेढ़ लाख रूपए का पक्का मकान मिलेगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों से समर्थन मूल्य पर धान खरीदी की मुकम्मल व्यवस्था, तेंदूपत्ता तोड़ने वाले श्रमिकों को चरण पादुका और महिला तेंदूपत्ता श्रमिकों को साड़ी वितरण, वनवासी क्षेत्रों के बेटे-बेटियों को मेडिकल और इंजीनियरिंग कालेजों में प्रवेश तथा लोक सेवा आयोग और संघ लोक सेवा आयोग के लिए प्रतियोगी परीक्षाओं की निःशुल्क कोचिंग जैसी योजनाएं सरकार की संवेदनशीलता का परिचायक है। डॉ. रमन सिंह ने कहा-आज सरगुजा संभाग के बलरामपुर, सूरजपुर और लुण्ड्रा जैसे आदिवासी बहुल इलाकों के बच्चे भी इन सुविधाओं का लाभ लेकर मेडिकल और इंजीनियरिंग कालेजों सहित आई.आई.टी. में भी प्रवेश ले रहे हैं। प्रधानमंत्री ने भी कहा है कि लोग अपने बच्चों को खूब पढ़ायें, उन्हें ज्यादा से ज्यादा शिक्षित करें, ताकि वे भी समाज के हर क्षेत्र में आगे बढ़ सके। कार्यक्रम में गृह, जेल और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री  रामसेवक पैकरा, श्रम तथा खेल युवा कल्याण मंत्री भईया लाल राजवाड़े और अन्य अनेक वरिष्ठ जन प्रतिनिधि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *