PM मोदी का जांगला दौरा….डॉ. रमन बोले – दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ बीमा योजना की शुरूआत के लिए छत्तीसगढ़ का चयन गौरव की बात

रायपुर ।    मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने शनिवार  14 अप्रैल को प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के छत्तीसगढ़ प्रवास का स्वागत करते हुए  कहा कि श्री मोदी ने दुनिया की सबसे बड़ी स्वास्थ्य बीमा योजना के शुभारंभ के लिए हमारे यहां के आदिवासी बहुल बीजापुर जिले के ग्राम जांगला का चयन किया है। हम सब छत्तीसगढ़ वासियों के लिए यह अत्यंत गर्व और प्रतिष्ठा की बात है। डॉ. सिंह ने कहा-विगत तीन वर्ष में प्रधानमंत्री का यह चौथा छत्तीसगढ़ प्रवास होगा। मुख्यमंत्री ने कहा-श्री मोदी जांगला के कार्यक्रम में देश के लगभग दस करोड़ गरीब परिवारों के 40 करोड़ से 50 करोड़ सदस्यों को दुनिया के इतिहास की इस सबसे बड़ी स्वास्थ्य सुरक्षा बीमा योजना की सौगात देने जा रहे हैं। इस योजना के तहत गरीबों को पांच लाख रूपए तक सालाना निःशुल्क इलाज की सुविधा मिलेगी। प्रधानमंत्री जांगला में लगभग ढाई घण्टे का समय दे रहे हैं, जहां वे बस्तर संभाग के बीजापुर जिले के आदिवासियों के साथ बातचीत करेंगे और उनकी जीवन शैली को नजदीक से देखेंगे। इसके साथ ही वे उनके लिए आयुष्मान भारत योजना के तहत स्वास्थ्य और वेलनेस सेंटर का भी शुभारंभ करेंगे। श्री मोदी वहां और भी कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं की सौगात देंगे।
तीन साल में प्रधानमंत्री की यह चौथी छत्तीसगढ़ यात्रा
उल्लेखनीय है कि लगभग तीन वर्ष के भीतर प्रधानमंत्री श्री मोदी की यह चौथी छत्तीसगढ़ यात्रा है। श्री मोदी प्रधानमंत्री के रूप में सबसे पहले 9 मई 2015 को राज्य के दौरे पर दंतेवाड़ा आए थे, जहां उनकी गरिमामय उपस्थिति में बस्तर संभाग के सामाजिक आर्थिक विकास में तेजी लाने के लिए 24 हजार करोड़ रूपए की परियोजनाओं के लिए केन्द्र सरकार के उपक्रमों के साथ समझौता ज्ञापनों पर हस्ताक्षर किए गए थे। इन परियोजनाओं में रावघाट-जगदलपुर 140 किलोमीटर रेलमार्ग निर्माण (लागत दो हजार करोड़) तीन मिलियन टन वार्षिक उत्पादन क्षमता के अल्ट्रा-मेगा इस्पात संयंत्र निर्माण (लागत 18 हजार करोड़) बचेली और किरंदुल में दस मिलियन टन वार्षिक क्षमता का लौह अयस्क प्रसंस्करण (लागत 1675 करोड़), नगरनार में दो मिलियन टन वार्षिक क्षमता का पेलेट प्लांट (लागत 800 करोड़) तथा किरंदुल/बचेली से नगरनार तक स्लरी पाइप लाइन और अन्य कार्यों के लिए 1525 करोड़ रूपए की परियोजनाएं शामिल हैं। प्रधानमंत्री ने अपने प्रथम प्रवास के दौरान दंतेवाड़ा के ग्राम जावंगा में आदिवासी बच्चों और अन्य कमजोर तबकों के बच्चों के लिए निर्मित एजुकेशन सिटी भी गए थे, जहां उन्होंने बच्चों के साथ बैठकर मन की बातों को साझा किया था। प्रधानमंत्री दूसरी बार छत्तीसगढ़ प्रवास के तहत 21 फरवरी 2016 को नया रायपुर और ग्राम कुर्रूभाठ (विकासखण्ड-डोंगरगढ़, जिला राजनांदगांव) आए थे। उन्होंने नया रायपुर में प्रधानमंत्री आवास योजना (सबके लिए आवास मिशन) के तहत मुख्यमंत्री आवास योजना के 40 हजार मकानों की बड़ी परियोजना का शिलान्यास करते हुए नया रायपुर में बनने वाले इलेक्ट्रॉनिक मेन्युफेक्चरिंग क्लस्टर (ईएमसी) और प्रदेश सरकार की नवाचार एवं उद्यमिता नीति का भी शुभारंभ किया था।
उन्होंने इस मौके पर सत्य सांई हेल्थ एजुकेशन ट्रस्ट के मानव विकास केन्द्र ’सौभाग्यम’ और श्री सत्य सांई संजीवनी सेंटर फॉर चाईल्ड हार्ट केयर का लोकार्पण तथा श्री सत्य सांई बाबा की प्रतिमा का अनावरण भी किया था। वे उसी दिन राजनांदगांव जिले के ग्राम कुर्रूभाठा गए थे, जहां उन्होंने देश के गांवों को शहरों जैसी बुनियादी सुविधाएं दिलाने के लिए राष्ट्रीय रूर्बन मिशन और राज्य के लिए 100 जेनेरिक मेडिकल दुकानों का शुभारंभ करते हुए जिले के दो विकासखण्डों-अम्बागढ़ चौकी और छुरिया को खुले में शौचमुक्त (ओडीएफ) भी घोषित किया था। उन्होंने कुर्रूभाठ के कार्यक्रम में प्रदेश की स्वच्छता दूत 104 वर्षीय श्रीमती कुंवरबाई (अब स्वर्गीय) को चरण स्पर्श कर सम्मानित किया था। तीसरी बार श्री मोदी छत्तीसगढ़ राज्य स्थापना दिवस के अवसर पर एक नवम्बर 2016 को नया रायपुर आए थे, जहां उन्होंने राज्योत्सव का शुभारंभ करते हुए जंगल सफारी, बस रैपिड ट्रॉजिट सिस्टम और एकात्म पथ का लोकार्पण किया था। उन्होंने इस मौके पर नया रायपुर में पंडित दीनदयाल उपाध्याय की प्रतिमा का अनावरण करते हुए राज्योत्सव के मंच पर किसानों के लिए छत्तीसगढ़ सरकार की सौर सुजला योजना का शुभारंभ किया था।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *