ग्रामसुराज अभियान 14 अप्रैल से ….सरकारी योजनाओँ को घर-घर तक पहुंचाने की मुहिम

बिलासपुर।कलेक्टर पी दयानंद ने मंगलवार को  मंथन सभागार में समय सीमा की बैठक ली। बैठक में उन्होंने बताया कि 14 अप्रैल से 5 मई तक ग्राम सुराज अभियान का आयोजन किया जाना है। ग्राम सुराज के दौरान प्रमुख योजनाओं से संबंधित अलग-अलग दिन विशेष दिवस आयोजित किये जाएंगे। इस कड़ी में 14 अप्रैल को सामाजिक न्याय दिवस, 18 अप्रैल को स्वच्छ भारत दिवस, 20 अप्रैल को उज्जवला दिवस, 24 अप्रैल को पंचायती राज दिवस, 28 अप्रैल को ग्राम सुराज दिवस, 30 अप्रैल को आयुष्मान भारत दिवस, 2 मई को किसान कल्याण दिवस का आयोजन किया जाएगा। इन दिवसों में जिले की सभी 645 ग्राम पंचायतों में ग्राम सुराज अभियान चलाया जाएगा। अभियान की सफलता के लिये जिला एवं विकास खण्ड स्तर पर नोडल अधिकारी नियुक्त किये गए हैं। अभियान के दौरान शासन की जनकल्याणकारी योजनाओं से संबंधित विशेष अभियान चलाकर हितग्राहियों को लाभान्वित किया जाएगा।

जिला प्रशासन ने अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति बाहुल्य क्षेत्र की 54 ग्राम पंचायतों को विशेष रूप से चिह्नाकिंत किया है जहां शासन की प्रमुख 7 योजनाओं के शत-प्रतिशत हितग्राहियों को लाभान्वित करने का लक्ष्य रखा गया है। इनमें बिल्हा और मस्तूरी की 23-23 ग्राम पंचायतें, तखतपुर की पांच, मरवाही की दो और कोटा की एक ग्राम पंचायत शामिल हैं। जिन सात योजनाओं में शत प्रतिशत हितग्राहियों को लाभ दिया जाना है उनमें प्रधानमंत्री उज्जवला योजना के अंतर्गत सभी हितग्राहियों को गैस कनेक्शन प्रदान करना है। यदि अनुसूचित जाति,अनुसूचित जनजाति या पिछड़ा वर्ग के हितग्राही का नाम 2011 की सर्वे सूची में नाम नहीं है तो कुछ शर्तों के साथ गैस कनेक्शन प्रदान किया जाएगा।

सौभाग्य योजना के अन्तर्गत 54 ग्राम पंचायतों के प्रत्येक अविद्युतीकृत घर को बिजली कनेक्शन प्रदान किया जाएगा। उजाला योजना के तहत शत-प्रतिशत एलईडी बल्ब का वितरण किया जाएगा। प्रधानमंत्री जन-धन योजनांतर्गत ऐसे ग्रामीण जिनके किसी कारणवश बैंक खाते नहीं खुल पाए हैं उनके बैंक खाते खोले जाएंगे। जीवन-ज्योति एवं प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना के तहत सभी का बीमा किये जाने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने कहा कि श्रम विभाग द्वारा संचालित सभी योजनाओं का लाभ संगठित और असंगठित श्रमिकों के पंजीकृत हितग्राहियों को देने के लिये उनके शत प्रतिशत पंजीयन की कार्यवाही पूर्ण कर ली जाए साथ ही नए पंजीकृत हितग्राहियों के बैंक खाते और बीमा कराने के निर्देश श्रम विभाग को दिये। मिशन इंद्रधनुष योजना के अन्तर्गत 2 वर्ष तक के सभी बच्चे और गर्भवती महिलाएँ जिनका टीकाकरण नहीं हुआ है उन्हें चिह्नाकिंत कर उनके शत-प्रतिशत टीकाकरण के निर्देश दिए गये हैं।

कलेक्टर ने बताया कि ग्राम सुराज के माध्यम से पंचायती राज व्यवस्था के सुदृढीकरण का लक्ष्य रखा गया है। इसके साथ ही शासन का उद्देश्य लोगों को योजनाओं से परिचित कराने के साथ हितग्राहियों को योजनाओं का लाभ दिलाना है। उन्होंने ग्राम सुराज अभियान के दौरान आयोजित शिविरों में योजनाओं और कौशल उन्नयन के स्टॉल लगाने के निर्देश दिये। उन्होंने पीएचई के अधिकारियों को ग्राम सुराज के दौरान सभी ग्राम पंचायतों में पेयजल की समस्या होने पर तात्कालिक रूप से निराकरण करने के निर्देश दिये।उन्होने कहा कि ग्राम सुराज के दौरान वे प्रतिदिन शाम को जिला मुख्यालय में सुराज अभियान की समीक्षा की जाएगी। सुराज अभियान के दौरान कहीं भी लापरवाही सामने आई तो संबंधित पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *