अमित जोगी बोले-बीजेपी,काँग्रेस केवल वोट के लिए कर रहे दलित राजनीति

रायपुर।मरवाही विधायक अमित जोगी ने सोमवार को कहा कि इंडीयन नैशनल कांग्रेस की दलित राजनीति की स्टंटबाजी कोई नई नहीं है। उनके अध्यक्ष ने 2004, 2009 और 2014 में भी चुनाव के पहले उत्तर प्रदेश और कई राज्यों में जाकर दलितों के घर खाना खाने का ढोंग किया है और चुनाव के बाद नजर नहीं आए। इस वर्ष भी वही कर रहे हैं।जिस व्यक्ति को उन्होंने छत्तीसगढ़ का प्रभार सौंपा है, उसने राष्ट्रीय अनुसूचित जाति के अध्यक्ष रहते हुए “सतनामी” समाज के लोगों को “चमार” की श्रेणी में रखकर प्रदेश के दलितों को अपमानित करा है। राहुल गांधी को राजघाट नहीं बल्कि दिल्ली स्थित पी.एल. पुनिया के निवास के बाहर अनशन पर बैठकर प्रायश्चित करना चाहिए।
डाउनलोड करें CGWALL News App और रहें हर खबर से अपडेट
https://play.google.com/store/apps/details?id=com.cgwall
हमसे facebook पर जुड़े-  www.facebook.com/cgwallweb
twitter- www.twitter.com/cg_wall

अमित जोगी ने भाजपा सरकार को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि जब बाबा साहब अम्बेडकर ने क़ानून बनाने का अधिकार विधायक और सांसदों को दिया है, तो सरकार को सुप्रीम कोर्ट के आगे पुनरीक्षण याचिका लगाकर भीख नहीं, बल्कि संसद सत्र के दौरान संशोधन विधेयक पारित करके क़ानून में जो कमजोरी सुप्रीम कोर्ट के फैसले से आयी है, उसे मिटा देना चाहिए था। ऐसा न करके प्रधान मंत्री ने केवल समाज को गुमराह करने का काम किया है।

हक़ीक़त तो यह है कि दोनों राष्ट्रीय पार्टियों ने दलितों को केवल मुखवास समझा है। दलितों के नाम पर सालों तक पेट भर कर ख़ुद वोट बटोरे और जहाँ दलितों के विकास की बात आयी वहाँ बस मीठी-मीठी बातें कर उन्हें भ्रमित किया । जोगी ने कहा कि भाजपा और कोंग्रेस दोनो दलित राजनीति केवल वोट के लिए कर रहे हैं। आज उसी का नतीजा है कि पूरे देश में दलित भाई बहन अपने अधिकारों के लिए सड़क पर उतर आए हैं और इनराजनीतिक स्टंटबाजों के विरुद्ध मोर्चा खोला है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *