महापौर ने पेश किया बजट..शहीद विनोद चौबे को सम्मान…ईमलीपारा सड़क का बदल गया नाम..रिव्हर व्यू पर फहरेगा 51 मीटर ऊंंचा तिरंंगा

  बिलासपुर—महापौर ने निगम का भारी भरकम बजट पेश किया। किशोर राय ने बताया कि वित्तिय वर्ष 2018-19 का बजट आधारभूत संरचना विकास के मद्देननजर तैयार किया गया है। पिछली बार 6 अरब 34 करोड़ 92 लाख 94 लाख प्रावधान किया गया था। 2018-19 में समग्र विकास के साथ कर्मचारी हितों को ध्यान में रखते हुए निगम का बजट 7 अरब 56 करोड़ 77 लाख 74 हजार रूपए का प्रावधान है। बजट के पहले पक्ष विपक्ष में एमआईसी के 52 बिन्दुओ पर भी चर्चा हुई। खासतौर फायर फाइटर व्हीकल को लेकर जमकर वाद विवाद हुआ। दोनों पक्षों ने शहीद विनोद चौबे के नाम ईमलीपारा सड़क का नामकरण पर ताली बजाकर स्वागत किया।

शहीद विनोद चौबे को सम्मान..बदल गया सड़क का नाम,प्रतिमा लगाने की जिद

                             सत्यम चौक से ईमलीपारा होकर पुराने बस स्टैण्ड तक की सड़क को अब शहीद विनोद चौबे सड़क के नाम से जाना जाएगा। बजट पेश होने के पहले एक अतिरिक्त प्रस्ताव पर कांग्रेस और भाजपा पार्षदों ने ताली बजाकर ध्वनिमत के साथ नामकरण का स्वागत किया। कांग्रेस पार्षद तैयब ने कहा कि सात साल बाद मेहनत रंग लायी। बिलासपुर के बेटे हमारे प्रिय आईपीएस शहीद चौबे को सम्मान हासिल हुआ है। इससे हमारे शहर और प्रदेश की जनता को अच्छा संदेश जाएगा। शहीद विनोद चौबे को यह सम्मान बहुत पहले हासिल हो जाना चाहिए था। लेकिन देर आए दुरूस्त आए। श्रेय कोई भी ले जाए लेकिन मैने महापौर और सभापति को चिठ्ठी लिखकर निवेदन किया है कि मेरे पार्षद निधि से 8 लाख रूपए शहीद विनोद चौबे की प्रतिमा को समर्पित है। सत्यम चौक पर शहीद विनोद चौबे का आदम कद प्रतिमा स्थाित की जाए। तैय्यब के प्रस्ताव को पार्षद शहजादी कुरैशी ने भी समर्थन किया। शहजादी कुरैशी ने वार्ड क्रमांक 22 के सामुदायिक भवन का नामकरण शहीद विनोद चौबे के नाम पर होने पर खुशी जाहिर की। इसके लिए वार्ड पार्षद उषा राजेश मिश्रा को बधाई भी दी। शहजादी और तैय्यब ने कहा कि उम्मीद है कि अब शहीद चौबे की प्रतिमा भी जल्द लग जाएगी।

पेंशन लिस्ट में गलत नाम जुड़ने का विरोध

तैय्यब और काशी रात्रे ने पेंशन प्रस्ताव में शामिल कुछ नाम के जुड़ने का एतराज किया। तैय्यब ने कहा कि जिस आदमी के नाम पर दस एकड़ से अधिक जमीन हो वह पेंशन का हकदार नहीं हो सकता है। गरीबों का हक छीनने का प्रयास किया जा रहा है। पार्षदों की जानकारी के बिना गलत नाम जोड़ा जा रहा है। दाल में कुछ काला है। तैय्यब ने बताया कि मैं पार्षद चुनाव हारने को तैयार हूं..लेकिन किसी गलत आदमी को योजना का लाभ नहीं लेने दूंंगा। काशि रात्रे ने कहा कि वार्ड से गलत जानकारी के आधार पर पेंशन के लिए नाम जोडा गया है। महापौर ने कहा कि मामले की छानबीन होगी। 

महाराणा प्रताप-नेहरू चौक सड़क विवाद

              तैय्यब हुसैन ने महाराणा प्रताप चौक से नेहरू चौक सड़क लिए एमआईसी के प्रस्ताव का जमकर विरोध किया। तैय्यब ने कहा कि पहले साई बिल्डर्स,फिर आनंदी बिल्डर्स और सुनील अग्रवाल को लाभ पहुंचाने के लिए निगम ने काम किया। भ्रष्टाचार तले करो़ड़ों रूपए की सड़क बन भी गयी। एक बार फिर उसी सड़क के लिए टेन्डर निकाला जा रहा है। एक ही गलती के लिए एक को सजा और दूसरे पर उपकार क्यों किया जा रहा है। महापौर ने कहा कि मामले में जानकारी ली जाएगी।

       इस दौरान डस्टबिन टेन्डर को लेकर भी जमकर हंंगामा हुआ। नेता प्रतिपक्ष सदन में पेपर की कटिंग लेकर सबको दिखाया। साथ ही डस्टबिन खरीदी में जमकर भ्रष्टातार का आरोप लगाया।

सात अरब का बजट पेश

                      एजेंडा पर बहस और लंच के बाद महापौर ने लगातार तीसरा बजट पेश किया। महापौर ने बताया कि वित्तीय वर्ष 2018-19 बजट में कुल 7 अरब 56 करोड़ 77 लाख 74 हजार रूपए का प्रावधान है। टीका टिप्पणी के बीच बजट पेश करते हुए मेयर ने कहा कि वार्डों के विकास, पेयजल एवं अधोसंरचना समेत मलूभूत सुविधाओं पर खर्च किया जाएगा। निगम के राजस्व और पूंजीगत व्यय के बाद अंतिम शेष एक अरब 38 करोड़ 21 लाख 33 हजार होगा।

      बजट मेंं मेयर किशोर राय ने अटल आवास योजना की जानकारी देने के अलावा निर्माण में संभावित खर्च को को सामने रखा। अमृत  योजना की भी जानकारी दी। किशोर ने बताया कि अमृत योजना के तहत 201 करोड़ का कार्य आदेश जारी कर दिया गया है। पाइप लाइन बिछाने का भी काम शुरू हो गया है। सिवरेज के बारे में बताया कि काम अंतिम चरण में है। उन्होने शहर के विभिन्न तालाबों के सौंदर्यीकरण और गार्डन के रखऱखाब पर आने वाले संभावित खर्च का बी खाका पेश किया। आईएचएसडीपी,ठोस अपशिष्ट प्रबंधन,सेन्ट्रल लाइब्रेरी भवन निर्माण,राष्ट्रीय ध्वज की स्थापना,साइंस कालेज मैदान योजना,अधोरसंंरचना मद पर आने वाले संभावित खर्चों का हिसाब किताब दिया।

                                महौपर ने बताया कि रिव्हर व्यू रोड पर 51 मीटर ऊंंचा राष्ट्रीय ध्वजि स्थापना का कार्य होगा। स्थापना पर कुळ 60.00 लाख रूपए प्रस्तावित है। साइस कालेज मैदान के विकास में दस लाख रूपए से अधिक राशि खर्च होगी। नूतन चौक में केन्द्रीय लाइब्रेरी का निर्माण किया जाएगा। लाइब्रेरी पर 6.13  लाख से अधिक रूपए खर्च होंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *