हड़ताली आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं-सहायिकाओं को बर्खास्त करेगी सरकार

रायपुर।मंगलवार को मुख्य सचिव अजय सिंह ने सभी जिला कलेक्टरों और पुलिस अधीक्षकों को अवैध शराब के कारोबार में लिप्त पाए जाने वालों पर कड़ी कानूनी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं।मुख्य सचिव ने मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए आयोजित बैठक में अधिकारियों को इस आशय के निर्देश दिए।मुख्य सचिव ने कहा-पिछले वर्ष की तरह इस वर्ष भी राज्य के सभी जिलों में ऐसे लोगों पर कड़ी निगाह रखी जाए। कोचिया प्रथा किसी भी स्थिति में दोबारा सिर न उठा पाए। पुलिस और आबकारी विभाग के अधिकारी परस्पर समन्वय से सीमावर्ती इलाकों पर भी नजर रखें, ताकि शराब की तस्करी न होने पाए। अवैध शराब के बारे में आम जनता से शिकायत प्राप्त करने के लिए आबकारी विभाग द्वारा टोल फ्री नम्बर 14405 जारी किया गया है। मुख्य सचिव ने अधिकारियेां को इस टोल फ्री नम्बर का प्रचार-प्रसार करने के भी निर्देश दिए।

बैठक में प्रदेश के कुछ जिलों में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं की हड़ताल से उत्पन्न स्थिति की भी समीक्षा की गई।महिला एवं बाल विकास विभाग की सचिव डॉ. एम. गीता ने बैठक में बताया कि अधिकांश जिलों में कार्यकर्ता और सहायिकाएं काम पर लौट आयी हैं, लेकिन रायपुर, महासमुन्द, सरगुजा, धमतरी, कांकेर, बस्तर और बेमेतरा जिलों में उनकी हड़ताल जारी रहने की सूचना मिली है। इस पर मुख्य सचिव ने कहा कि कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं के मानदेय में वृद्धि नये वित्तीय वर्ष 2018-19 में की जा चुकी है। इसलिए आंदोलन कर रही कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं को समझाया जाए और अगर वे इसके बावजूद हड़ताल जारी रखती हैं, तो उन्हें नियमानुसार बर्खास्त करने की कार्रवाई की जाए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *