2 अप्रैल को पद्मश्री से सम्मानित होगा बिलासपुर का लाल…पं.श्यामलाल चतुर्वेदी ने किया रिहर्सल..महेन्द्र सिंह धोनी भी हुए शामिल

नई दिल्ली– बिलासपुर की आन बान शान बन चुके पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी.. सोमवार को देश के प्रथम नागरिक राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द के हाथों पद्मश्री से सम्मानित होंगे। रविवार दोपहर राष्ट्रपति भवन  के दरबार हाल में पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी समेत 43 पद्म अलंकरण से सम्मानित होने वालों ने रिहर्सल किया। इस दौरान महान क्रिकेटर महेन्द्र सिंह धोनी समेत मशहूर चित्रकार लक्ष्मण भी मौजूद थे। पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी के साथ उनके पुत्र छत्तीसगढ़ के वरिष्ठ पत्रकार सूर्यकांत चतुर्वेदी और पद्मश्री पंडित श्यामलाल के पोते अम्बर चतुर्वेदी भी मौजूद थे।

सोमवार को शाम साढ़े छः और आठ बजे के बीच राष्ट्रपति भवन में 43 लोगों को महामहिम राष्ट्रपति रामनाथ कोविन्द पद्म अंलकरण से सम्मानित करेंगे। रविवार को पद्म अंलकरण पाने वाले 43 लोगों ने सेरेमनी से ठीकएक दिन पहले राष्ट्रपति भवन में रिहर्सल किया। राष्ट्रपति भवन के अधिकारियों ने पद्म सम्मान पाने वाले सभी लोगों को अंलकरण के दौरान होने वाली सभी गतिविधियों का डेंमो दिया।

                              मालूम हो कि साहित्य और पत्रकारिता के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ से पंडित श्यामलाल चतु्र्वेदी को पद्मश्री देने का भारत सरकार ने एलान किया है। जानकारी हो कि 92 साल के पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी छत्तीसगढ़ के उन गिने चुने पत्रकारों में शामिल हैं जिन्होने अविभाज्य मध्यप्रदेश के प्रथम हिंदी दैनिक कर्मवीर अखबार के लिए रिपोर्टिंग की है। दैनिक कर्मवीर में रिपोर्टिंग के दौरान पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी को  अखबार के संस्थापक और संपादक राष्ट्रकवि दद्दा यानि माखनलाल चतुर्वेदी का सानिध्य मिला। चतुर्वेदी को भारत सरकार ने पत्रकारिता के क्षेत्र में 70 साल की सेवा के लिए पद्मश्री सम्मान से अंलकृत करने का फैसला किया।

            बताते चलें कि पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी राष्ट्रकवि दद्दा यानि माखनलाल चतुर्वेदी की पीढ़ी के छ्तीसगढ़ के एक मात्र पत्रकार हैं जिन्हें 92 साल के उम्र में सम्मानित होने का अवसर मिला है।

                              रविवार को राष्ट्रपति भवन में जहां पद्म अलंकरण का कार्यक्रम होना है। एक दिन पहले उसी हाल में 43 लोगों ने रिहर्सल किया। रिहर्सल कार्यक्रम में महान क्रिकेटर महेन्द्र सिंह धोनी, 92 साल के मशहूर चित्रकार लक्ष्मण, 96 साल के भवानी पटनायक और 99 साल के एक अन्य व्यक्ति भी शामिल हुए।

                    रिहर्सल कार्यक्रम में पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी व्हील चेयर पर थे। व्हील चेयर उनके पुत्र पत्रकार सूर्यकांत चला रहे थे। कार्यक्रम में पंडित श्यामलाल का पोता अम्बर चतुर्वेदी भी मौजूद थे। देखा जा सकता है कि महेन्द्र सिंह धोनी पंडित श्यामलाल चतुर्वेदी के बगल से एक कुर्सी पर बैठे हुए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *