5 साल में गायब हो जाएंगी झुग्गियां…किसने कहा..70 साल तक ऱखा पक्के आवास से दूर..समस्या नहीं प्यार की हो रही बौछार

बिलासपुर— निकाय मंत्री ने कहा जनसंपर्क के दौरान लोगों के प्रश्नों से नहीं बल्कि प्यार के बौझार से भीग रहा हूं। लोग खुश होेते हैं कि मंत्री घर आया है। जनप्रतिनिधि हाल चाल पूछने आया है। मैं समस्या पूछता हूं…तो जनता दुआ और आशीर्वाद देती है। वैसे मै हमेशा वार्डों का भ्रमण करता हूं…लेकिन सरकार ने जनसंपर्क की जिम्मेदारी दी है। घूमकर पता लगा रहा हूं कि कोई समस्या है तो जनता बताएं..लेकिन जनता है कि आशीर्वाद का बौझार कर रही है।

                     अमर ने सिम्स में आयोजित स्वास्थ्य शिविर के दौरान बताया कि पिछले सत्तर सालों में विपक्ष ने गरीबों की नसीब में झुग्गी झोपड़ी लिखा है। लेकिन प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी और मुख्यमंत्री रमन सिंह ने एलान किया है कि साल 2022 तक सभी झुग्गी वासी पक्के मकान में रहेंगे। बिलासपुर में कुल 30 हजार पक्के मकान बनाए जाएंगे। किसी प्रधानमंत्री या मुख्यमंत्री ने इसके पहले गरीबों के लिए नहीं ऐसा कभी नहीं सोचा।

          निकाय मंत्री अमर अग्रवाल ने आज सिम्स में आयोजित स्वास्थ्य शिविर में गंभीर रोग से शिकार लोगों को रिफ्रल कार्ड वितरित किया। मंत्री ने बताया कि जिन मरीजों को कार्ड दिया गया हैं उनका इलाज सरकार करवाएगी। पत्रकारों से बातचीत करते हुए अमर अग्रवाल ने कहा कि जनता को ठीक से नहीं मालूम है कि बिना एक रूपए खर्च किए गंभीर से गंभीर मरीजों का इलाज सरकार करवाती है। पिछले 20 दिनों से शहर में स्वास्थ्य शिविर लगाया जा रहा है। चिकित्सक गंभीर मरीजों की स्क्रीनिंग कर रहे हैं। गंभीर रोग से पीड़ित 15 से अधिक लोगों को रिफ्रल कार्ड का वितरण किया गया। हर दो साल में इस प्रकार का अभियान सरकार चलाती है। लोगों को योजनाओं के बारे में जानकारी भी देती है। 

                        पदयात्रा के दौरान लोगों के आक्रोश का सामना करना पड़ रहा है। सवाल के जवाब में अमर ने कहा कि समस्या हो तो सामना करना पड़े। लोग अपने विधायक और मंत्री को अपने बीच पाकर प्यार और आशीर्वाद लुटा रहे हैं। मैं लोगों की परेशानियों को ढूंढ रहा हूं। लोग हैं कि प्यार से घर में बैठाकर खुशियों का जाहिर करने से थक नहीं रहे हैं। अमर ने बताया कि हां नाली,पानी निकासी जैसी छोटी मोटी परेशानी है लेकिन यह सामयिक है। लोग भी इस बात को स्वीकार करते हैं। उसे तत्काल दूर किया जा रहा है।

            आवास की सबसे ज्यादा मांंग हो रही है के सवाल पर अमर ने कहा कि जनता से ज्यादा विपक्षी परेशान हैं। जनता खुद कहती है कि सत्तर साल मेंं किसी ने गरीबों के पक्के मकान पर चर्चा नहीं की। जब पक्का मकान मिलने वाला है तो विपक्षी परेशान होने लगे हैं। अमर ने बताया कि बिलासपुर में कुल 30 हजार पक्के मकान बनाए जाएंगे। प्रदेश में 3 तीन लाख पक्के मकान बनेंगे।

                           बिलासपुर शहर में साल 2022 तक एक भी झुग्गी झोपड़ी नजर नहीं आएगी। सभी लोग पक्के मकान में रहेंगे। शासन ने चार सौ करोड़ का लोन लेने का फैसा किया है। एक गरीब का आशियाना कम से कम पांच लाख रूपए में तैयार होगा। इसलिए विपक्ष की बेचैनियों को समझ सकता हूं। अफसोस होता है कि इन्हें गरीबों की खुशियां रास नहीं आ रही है।

                               अमर ने बताया कि नकसलियों का अंत निश्चित हैं। हमने प्रतीज्ञा की है कि प्रदेश में नक्सलियों का नामो निशान मिटा दिया जाएगा। मुख्यमंत्री ने भी एलान किया है। नक्सली सरकार की विकास कार्यों से परेशान हैं। घटना नक्सलियों की हताशा को जाहिर करती हैं। शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देता हूं। उनकी शहादत को बेकार नहीं जाने दिया जाएगा। नक्सलियों को जड़ से उखाड फेंका जाएगा।

                   कार्यक्रम से पहले अमर अग्रवाल ने शिविर कैम्प का निरीक्षण किया। उन्होने कहा कि मुझे परिणाममूलक शिविर पर विश्वास है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *