जब युवती ने कहा हो गयी ठगी की शिकार…पुलिस को बताया…नौकरी के नाम पर भोले भाले लोग बन रहे निशाना

बिलासपुर— गोंडपारा निवासी एक युवती ने दो कम्पनियों पर भोले भाले लोगों से नौकरी लगाने के नाम पर रूपए एठने का आरोप लगाया है। सिटी कोतवाली पहुंचकर विनिता मिश्रा ने बताया कि दोनोंं कम्पनियां सागर और दिल्ली की हैं। फोन कर ट्रेनिगं के लिए बुलाते हैं। प्रशिक्षण देकर सरकारी नौकरी लगाने का दावा करते हैं। इसके पहले लोगों से लाखों रूपए की टोकन मनी लेते हैंं। विनीता की शिकायत पर सिटी कोतवाली पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। स्थानीय स्तर पर ट्रेनिंग देने वालों की तलाश भी पुलिस ने शुरू कर दी है।

            विनिता मिश्रा ने सिटी कोतवाली में शिकायत की है कि वह गोंडपारा की रहने वाली है।21 जनवरी 2018 को इन्द्रजीत नाम के किसी व्यक्ति का फोन आया। बताया कि 24 जनवरी को मेसर्स लम्बोदर ट्रेडिंग कम्पनी दिल्ली में सुबह 11 बजे साक्षात्कार है। चुने जाने पर 25 दिन का प्रशिक्षण कार्यक्रम होगा। इसके बाद सरकारी नौकरी लगेगी।

              विनिता के अनुसार  23 जनवरी को छत्तीसगढ़ एक्सप्रेस से दिल्ली रवना हुई। दिल्ली में बताए गए स्थान पर मेरा साक्षात्कार हुआ। एक हॉटल में ठहरने की व्यवस्था थी।  साक्षात्कार के बाद मुझे बताया गया कि प्रशिक्षण के बाद कृषि अधिकारी के पद पर नियुक्ति होगी। मुझसे एक लाख रूपए की मांग की गयी। चूंकि दिल्ली में रूपए की व्यवस्था नहीं हो सकती थी। इसलिए बिलासपुर में देने को कहा।

                 बिलासपुर पहुंंचने के बाद मैने इन्द्रजीत और बृजेन्द्र को एक लाख रूपए दिए। इन्द्रजीत और बृजेन्द्र ने बताया कि लम्बोदर कम्पनी बीना ग्लैस कम्पनी  दिल्ली की सहायक संस्थान है। दोनों ने कई लोगों के साथ प्रशिक्षण देना शुरू किया। इसी दौरान मुझसे दोनों ने चार लाख रूपए की मांग की। दोनों ने बताया कि चार लाख रूपए मिलने के बाद ही पद दिया जाएगा।

                                  इसी दौरान समझ में आया कि नौकरी के नाम पर मेरे समेत अन्य लोगों के साथ धोखधड़ी हुई है। मैने चार लाख रूपए देने से इंंकार कर दिया। एक लाख रूपए लौटाने को कहा। लेकिन अभी दोनों ने रूपए नहीं लौटाए हैं।

              विनीता ने बताया कि बीना में इस प्रकार के कई फर्जी कम्पनियां भोले भाले लोगों को नौकरी लगाने के नाम ठगी कर रही है। ऐसे लोगों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाए। पुलिस से निवेदन है कि आरोपियों को गिरफ्तार कर एक लाख रूपए दिलाने की कोशिश करें।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *