पारस पॉवर की जनसुनवाई में हंंगामा…कोलवाशरी का किया विरोध..दर्जनों जोगी कार्यकर्ता गिरफ्तार…आप नेताओं ने भी किया विरोध

    बिलासपुर—घुटकू घानापारा में पारस पॉवर एन्ड कोल बेनिफिकेशन की जनसुनवाई में जमकर हंगामा हुआ। ग्रामीणों के साथ जनता कांंग्रेस नेता और आप कार्यकर्ताओं ने कोलवाशरी का विरोध किया। जनसुनवाई का विरोध कर रहे आक्रोशित जोगी कार्यकर्ता अन्दर दाखिल हुए। माइक और डायस को उखाड़कर फेंक दिया। ग्रामीणों ने भी कोलवाशरी का विरोध करते हुए गांव में कोलवाशरी नहीं लगाने की मांग की। ग्रामीणों के साथ जनप्रतिनिधियों ने घंंटो तक जनसुनवाई का विरोध किया। काफी समय तक पुलिस भी असहाय नजर आयी। बाद में सभी जोगी कांग्रेस नेताओं को गिरफ्तार कर कोनी थाना भेज दिया गया। लेकिन आप नेताओं ने जनसुनवाई के अन्त तक पंडाल के अन्दर रहकर कोलवाशरी का विरोध करते रहे।

                                   घुटकू घानापारा में पारस पावर एण्ड कोनी बेनिफिकेशन प्लांट का जोगी कांंग्रेस,आप नेताओं के साथ ग्रामीणों ने विरोध किया। अधिकारियों की मौजूदगी में जनसुनवाई ठीक बारह बजे शुरू हुई। करीब घंटे भर बाद आप नेताओं ने दिलीप अग्रवाल की अगुवाई में कोलवाशरी का विरोध करना शुरू कर दिया। सरकार और प्लान्ट मालिकों के खिलाफ जमकर किया।

इसी दौरान जोगी कांग्रेस नेता भी घानापारा पहुंच गए। जोगी जिन्दाबाद का नारा लगाते हुए बेरिकेट्स तोड़कर फेंक दिया। जनता कांग्रेस नेताओं के सामने पुलिस भी असहाय नजर आयी। कोलवाशरी के विरोध में जनता कांग्रेस नेताओं का स्थानीय जनता ने भी सहयोग किया।

जनता कांग्रेस नेता और तखतपुर प्रत्याशी संतोष कौशिक,बृजेश साहू,समीर अहमद बबला,जीतू ठाकुर और मणिशंकर और विश्वम्भर गुलहरे ने नीजि कैम्पस में जनसनवाई का विरोध किया। जनता कांंग्रेस नेताओं ने कहा कि क्षेत्र में आधा दर्जन से अधिक कोलवाशरी है। पहले खोल गए सभी वाशरियों से गांव में मौत  बांटी जा रही है। खेत के खेत बंजर हो रहे हैं। पानी का स्तर नीचे चला गया है। जनता के विरोध के बाद भी प्रशासन कोलवाशरी को खोलने की अनुमति दी जा रही है। जोगी कांग्रेस नेताओं के अनुसार पर्यवारण विभाग बिना जांच परख किए एनओसी बांट रहा है। सरकारी अधिकारी किसान और गरीबों की  वजाय पूंजीपतियों का समर्थन कर रहे हैं।

कांग्रेस नेता मक्कड़ ने किया विरोध लेकिन मनोहर का समर्थन

          कोलवाशरी प्लान्ट का तखतपुर पूर्व विधायक जगजीत सिंह मक्कड़ ने विरोध किया। उन्होने इस दौरान तखतपुर विधायक पर जमकर निशाना साधा। मक्कड़ ने बताया कि भाजपा की पूंजीपति परस्त सरकार में किसान और गरीबों की सुनवाई नहीं है। विधायक मारपीट में मस्त है। जनता को लूटने के लिए पूंजीपती तैयार बैठे हैं। कोलवाशरी का विरोध करते हुए मक्कड़ ने कहा कि जनता की आवाज को कोलवाशरी मालिक ने डरा धमकाकर और रूपयों का लालच देकर दबा दिया है। लेकिन हम घानापारा में कोलवाशरी नहीं खुलने देंगे।

                     इस दौरान कांग्रेस नेता मनोहर कुर्रे का कोलवाशरी को समर्थन पत्र जमकर चर्चा का विषय बना। कुर्रे ने पत्र में लिखा है कि व्यक्तिगत और कांग्रेस की तरफ से कोलवाशरी का समर्थन करता हूं। समर्थन पत्र देखने के बाद जनता कांग्रेस नेताओं ने कांग्रेस पार्टी पर जमकर कीचड़ उछाला।

नेताओं की गिरफ्तारी

                              हो हंगामे के बीच आळाधिकारियों के निर्देश पर पुलिस हरकत में आयी। जनता कांग्रेस नेता संतोष कौशिक,बृजेश साहू,विश्वम्भर गुलहरे,मणिशंकर पाण्डेय, समीर अहमद,जीतू ठाकुर गजेन्द्र श्रीवास्तव समेत दर्जनों जोगी कार्यकर्ताओं को गिरफ्तार कर बस में बैठाकर कोनी थाना बेजा गया। देर शाम सभी नेताओं को निशर्त रिहा भी कर दिया गया। गिरफ्तारी देने वालों में एक मात्र कांग्रेस नेता जगजीत मक्कड़ भी नजर आए।

अत तक डटे आप कार्यकर्ता

             जनसुनवाई शाम पांच बजे तक चली। ज्यातादर ग्रामीणों ने कोलवाशरी का विरोध किया। आप कार्यकर्ता दीलिप अग्रवाल की अगुवाई में अंत तक डटे रहे । पंंडाल में बैठकर जनसुनवाई का ना केवल विरोध किया। बल्कि अधिकारियों के खिलाफ नारेबाजी करत रहे।

 अधिकारियों ने कहा सहमति के बाद खुलेगी वाशरी

                    एडीएम उपाध्याय और क्षेत्रीय पर्यावरण अधिकारी ने कहा कि कोलवाशरी को अभी अनुमित नहीं दी गयी है। कोलवाशरी स्थानीय लोगों की सहमति से खुलेगी। जनसुनवाई में लोगों को अपनी बातों को रखने का अधिकार है। सुनवाई के बाद लोगों की राय को कलमबद्ध कर उपर भेजा जाएगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *