शिक्षा कर्मियों की मांगों पर विचार करने CS की अध्यक्षता में कमेटी की बैठक 9 मार्च को ,अहम् फैसले की उम्मीद..

रायपुर ।छत्तीसगढ़ के सरकारी स्कूलों में काम कर रहे शिक्षाकर्मियों की समस्याओं और मांगों पर विचार करने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में गठित  कमेटी की बैठक 9 मार्च को बुलाई गई है। इस संबंध में समिति के सदस्य सचिव और पंचायत संचालनालय के संचालक तारण प्रकाश सिन्हा ने पत्र जारी कर दिया है।माना जा रहा है कि इस मीटिंग में शिक्षा कर्मियों से जुड़े मुद्दों पर विचार कर कोई फैसला किया जा सकता है।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार पंचायत संचालनालय की ओर से 8 मार्च की तारीख पर यह पत्र जारी किया गया है। जिसमें कहा गया है कि शिक्षक पंचायत /नगरी निकाय संवर्ग की वेतन एवं भत्ते पदोन्नति एवं अनुकंपा नियुक्ति तथा स्थानांतरण नीति से संबंधित मांगों पर विचार करने हेतु गठित समिति की बैठक 9 मार्च को आयोजित की जा रही है। यह बैठक मुख्य सचिव की अध्यक्षता में मंत्रालय स्थित उनके कक्ष में 9 मार्च को दोपहर बाद 3:00 बजे आयोजित की गई है। पंचायत संचालक ने इस पत्र की प्रति अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग, प्रमुख सचिव वित्त विभाग ,स्कूल शिक्षा विभाग, सामान्य प्रशासन विभाग, सचिव नगरीय प्रशासन एवं विकास विभाग और विशेष सचिव आदिम जाति तथा अनुसूचित जाति विकास विभाग को भी भेजी है।

जैसा कि मालूम है कि पिछले नवंबर में छत्तीसगढ़ के शिक्षाकर्मियों ने 15 दिन की हड़ताल की थी ।यह हड़ताल शून्य पर समाप्त हुई थी। लेकिन शासन ने शिक्षाकर्मियों की मांगों और समस्याओं  पर विचार करने के लिए मुख्य सचिव की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया था ।कमेटी के गठन के समय कहां गया था कि यह कमेटी 3 महीने में अपनी रिपोर्ट दे देगी।3 महीने की  यह मियाद पिछले मियाद पिछले 5 मार्च को खत्म हुई है। उसके बाद से तमाम शिक्षाकर्मी संगठनों की ओर से यह मामला उठाया जाता रहा है कि कमेटी को अपने निर्धारित समय पर रिपोर्ट पेश करना चाहिए। संगठनों ने उम्मीद जताई है की कमेटी शिक्षाकर्मियों के संविलियन का सुझाव पेश करेगी। इस बीच पंचायत संचालक की ओर से विभिन्न शिक्षाकर्मी संगठनों से  उनकी समस्याओं और मांगों के संबंध में सुझाव भी मंगाए गए थे। विभिन्न संगठनों ने पंचायत संचालक के सामने उपस्थित होकर अपने -अपने सुझाव पेश किए हैं। जिनमें प्रमुख रुप से उन्हीं 9 सूत्री मांगों का जिक्र आया है, जिसे लेकर  शिक्षाकर्मियों ने नवंबर में हड़ताल की थी। माना जा रहा है की 9 मार्च को होने वाली बैठक में इन बिंदुओं पर विचार होगा।

Comments

  1. By agesh

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *