जिला सहकारी बैक पर संयुक्त पंजीयक का पत्रवार….पूछा…निलंबित शाखा प्रबंधक कैसे बना सीईओ..जवाब दें

बिलासपुर– दिनों दिन जिला सहकारी बैक मर्यादित बिलासपुर विवादों में घिरता जा रहा है। संचालक बोर्ड और बैंक प्रशासन को न्यायालय पंजीयक लगातार पत्र व्यवहार कर प्रभारी सीईओ के निर्णयों पर उगली उठाया है। बावजूद इसके ना तो विवाद थम रहा है और ना ही पंजीयक न्यायाल को पत्र का जवाब ही मिल रहा है। 27 फरवरी के दो दिन बार 1 मार्च को एक बार फिर संयुक्त पंंजीयक ने स्थानांतरण किए गए कर्मचारियों को लेकर संचालक मण्डल अध्यक्ष और सीईओ से जवाब मांंगा है।

                         मालूम हो कि पूर्व सीईओ के हटते ही जिला केन्द्रीय सहकारी बैक मर्यादित बिलासपुर विवादों का केन्द्र बनता जा रहा है। दो दिन पहले संयुक्त पंजीयक न्यायालय ने प्रभारी सीईओ की नियुक्ति और बैंकिग कार्य को लेकर जवाब किया था। सयुक्त पजीयक को अभी पहले सवाल का जवाब मिला नहींं कि कार्यालय से दूसरा पत्र भी जारी हो गया है। संयुक्त पंंजीयक के.एल.ढारगावे ने बैक संचालक अध्यक्ष मुन्नालाल रजवाड़े को पत्र लिखा है। जवाब मांगा है कि निलंबित शाखा प्रबंधक को किस नियम के तहत सीईओ की जिम्मेदारी दी गयी है।  किस नियम के तहत निलंबित शाखा प्रबंधक सीईओ की हैसियत से कर्मचारियों का स्थानांतरण कर सकता हैं। संयुक्त पंजीयक ने पत्र के आशय की जानकारी मंत्रालय,पंजीयक,कलेक्टर,प्रबंध संचालक रायपुर समेत अन्य चुने विभागों को भी भेजा है।

                  संयुक्त पंजीयक ने दो दिन पहले ही पत्र भेजकर प्रभारी सचिव की नियुक्ति और निलंबन को लेकर जवाब मांगा था। संयुक्त पंंजीयक ने प्रभारी सचिव विकास गुरूदीवान को पत्र लिखकर पूछा है कि जब तात्कालीन सीईओ अभिषेक तिवारी ने निलंबित किया…तो फिर किन नियमों के तहत आपको प्रभारी सीईओ बनाया गया है। यह जानते हुए भी कि जब सीईओ अभिषेक तिवारी को रीलिव करने के निर्णय के खिलाफ संयुक्त पंजीयक कोर्ट ने स्थगन दिया है । बावजूद इसके प्रभारी सीईओ की हैसियत से एजेन्डा पारित क्यों किया गया।

                              अभी पहले पत्र का जवाब नहीं मिला कि एक मार्च को संयुक्त पंजीयक ने जिला सहकारी बैक अध्यक्ष और प्रभारी सीईओ को नया फरमान जारी कर दिया है। संयुक्त पंजीयक ने जानना चाहा है कि भारी संख्या में कर्मचारियों का स्थानांतरण किया गया । किन नियमों के आधार पर निलंबित शाखा प्रबंधक को सीईओ बनाया गया। अब निलंबित शाखा प्रबंधक गलत तरीके से  सीईओ बन कर्मचारियों का स्थानांतण कर रहा है।

संयुक्त पंजीयक ने मामले में मुन्नालाल रजवाड़े़ और प्रभारी सीईओ को जवाब पेश करने को कहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *