महीनों बाद पकड़ाया ठगी का फरार आरोपी…आईजी ने दी जवानों को बधाई…ईनाम का किया एलान

बिलासपुर— स्पेशल पुलिस सेल ने 420 प्रकरण के एक पुराने मामले में फरा आरोपी को धरदबोचा है। आरोपी ने एक युवक को हाईकोर्ट में चपरासी की नौकरी दिलाने साल 2015 में 35 हजार रूपए लिए थे। नौकरी नहीं मिलने के बाद प्रार्थी ने मामले की शिकायत साल 2017 में बिल्हा थाने में की।  मंगलवार को फरार आरोपी हेमन्त शास्त्री को गिरफ्तार कर लिया गया है। हेमन्त शास्त्री छाल का रहने वाला है।

                    एडिश्नल एसपी नीरज चन्द्राकर ने बताया कि स्पेशल पुलिस टीम को  420 के एक पुराने मामले में धौराभांठा से ठगी के आरोपी हेमन्त शास्त्री को पकड़ने में सफलता मिली है। आरोपी के खिलाफ बिल्हा थाना में मामला दर्ज है। एक युवक ने लिखित शिकायत कर बताया था कि हेमन्त शास्त्री ने हाईकोर्ट में चपरासी की नौकरी दिलाने के नाम पर 35 हजार रूपए की ठगी की है।

                नीरज चन्द्राकर ने बताया कि  नवम्बर 2017 नवम्बर में प्रार्थी वेदराम बंजारे ने बिल्हा थाना पहुंचकर ठगी का शिकार होने की लिकित जानकारी दी। . वेदराम ने बताया कि छाल निवासी हेमन्त शास्त्री ने हेमन्त शास्त्री ने 50 हजार रूपए में हाईकोर्ट में चपरासी बनाने का आश्वासन दिया।  हेमन्त शास्त्री की मांग पर मैने अक्टूबर 2015 में 35 हजार रूपए दिए। रूपए पाने के बाद हेमन्त शास्त्री फरार हो गया।

                                वेदराम बंजारे की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए आईजी के निर्देश पर  स्पेशल टीम ने फरार आरोपी को निगरानी शुरू की। एसआईयू की टीम ने छाल के आस पास डोड़कीभाटा में मुखबिरों का जाल फैला दिया। मुखबिर की सूचना पर स्पेशल टीम प्रभारी डी.के.कुर्रे और उप निरीक्षक परिहार ने हेमन्त शास्त्री को धौराभाठा से धर दबोचा।

                          आईजी दीपांशु काबरा ने फरार आरोपी के पकड़े जाने पर स्पेशल टीम को शुभकामनाएं दी है। आईजी ने जवानों की सफलता पर ईनाम देने का एलान किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *