कमाऊ पूत को बजट में 13 प्रतिशत का इजाफा…जोन महाप्रबंधक ने कहा..टर्मिनल स्टेशन की तर्ज पर होगा उस्लापुर का विकास

बिलासपुर— दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जोन महाप्रबंधन सोइन ने पत्रकार वार्ता में बताया कि रेल बजट सुरक्षा और संरक्षा पर फोकस है। बिलासपुर रेलवे जोन को विकास और सुरक्षा समेत अन्य कार्यों के लिए 2018-19 का कुल बजट 5141 करोड़ रूपए है। पिछले साल की तुलना में इस 13 प्रतिशत ज्यादा मतलब 615 करोड़ रूपए अधिक मिले हैं। बिलासपुर जोन को इस बार 114 करोड़ रूपए चिरमिरी नागपुर हाल्ट में 11 किलोमीटर नई लाइन विस्तार किया जाएगा। पत्रवार्ता में जोन महाप्रबंधक सोईन ने सवालों का जवाब दिया। बजट 2018-19 में बिलासपुर को क्या कुछ मिला विस्तार से जानकारी भी दी।

                             सोइन ने बताया कि बिलासपुर जोन का 2018-19 का कुल बजट 5143 करोड़ रूपए हैं। बजट में सर्वाधिक 2202 करोड़ खर्च नई लाइनों पर किया जाएगा। लाइन दोहरीकरण पर 1093 करोड़ खर्च आएगा। रोड सुरक्षा आरओबी, आरयूबी पर पिछले बजट से अधिक 324 करोड़ और  लेबल क्रासिंग अपग्रेडेशन पर 18 करोड़ का काम किया जाएगा। ट्रैफिक सुविधाओं पर कुल 195 करोड़ क खर्च होंगे।

                              महाप्रबंधक ने बताया कि राष्ट्रीय स्तर पर बिलासपुर को सबसे सुथरा जोन होने का गर्व हासिल हुआ है। पिछले 6 सालों से बिलासपुर जोन देश का सबसे कमाऊ पूत है। लक्ष्य से अधिक लदान और यात्रियों के परिवहन का रिकार्ड बनाया है। यात्री सुरक्षा पर बिलासपुर जोन ने सर्वाधिक व्यय करने का रिकार्ड बनाया है। बिलासपुर जोन में कुल 313 स्टेशन और सर्वाधिक 317 साइडिंग है।  पिछली बार की तुलना में इस बार यात्री सुरक्षा पर 111 प्रतिशत अधिक राशि मिली है। पिछले बजट में पैसेन्जर एनीमिटजी पर कुल 31 करोड़ खर्च हुआ था इस बार  66 करोड़ रूपए खर्च होंगे। महाप्रबंधक ने बताया कि जोन में कुल 49 फुट ओव्हर ब्रिज का निर्माण होगा। उरकुरा,सरोना,गोंदिया,कालूमना,दाधापारा,उस्लापुर और अनूपपुर में कुल 6 फ्लाईओव्हर बनाया जाएगा।

पत्रकारों के सवाल महाप्रबंध का जवाब

                              पत्रकार वार्ता में सोइन ने बताया कि बिलासपुर को इस बार ना केवल बजट अधिक मिला। बल्कि सुरक्षा,संरक्षा और सफाई मामले में देश का सर्वश्रेष्ठ जोन का गौरव हासिल किया है। पत्रकारों के सवाल पर सोइन ने बताया कि कटनी बिलासपुर लाइन दोहरीकरण का काम दिसम्बर 2018 तक पूरा कर लिया जाएगा। तीसरी लाइन का सर्वे पहले ही हो चुका है। पांच साल के भीतर तीसरी लाइन भी बिछ जाएगी। इस समय तीसरी लाइन का काम पेन्ड्रा अनूपपुर और कटनी के बीच शुरू भी हो चुका है। पत्रकारों को मुख्य सुरक्षा आयुक्त आर.एस.सिंह ने बताया कि ट्रेन और स्टेशनों में सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम हैं। बैग स्कैनर और सीसीटीवी से जुड़े सवालों का भी जवाब दिया। नागपुर मंडल के दो स्टेशनों नई आरपीएफ पोस्ट बनाया जाएगा।

हमसफर और अन्त्योदय ट्रेन

                     एक सवाल के जवाब में महाप्रबंधक ने बताया कि बेशक बजट में ट्रेन की घोषणा नहीं हुई है। लेकिन बिलासपुर से दो नई  ट्रेन पास होगी।  अन्त्योदय ट्रेन बिलासपुर से फिरोजपुर के बीच जल्द दौड़ेगी। जबलपुर से सन्तरागाछी  और सन्तरागाछी से जबलपुर के बीच चलने वाली दोनो हमसफर ट्रेन बिलासपुर से होकर गुजरेगी। अन्त्योदय ट्रेन 2 दिन बिलासपुर से फिरोजपुर के बीच चलेगी।  ट्रेन बिलासपुर से रविवार को जबक फिरोजपुर से सोमवार को छुटेगी।

उस्लापुर टर्मिनल स्टेशन

एक सवाल के जवाब में महाप्रबंधक सोइन ने कहा कि उस्लापुर स्टेशन बिलासपुर जोन के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। बिलासपुर स्टेशन पर दबाव बढ़ गया है। इसलिए रेल प्रशासन ने फैसला किया है कि उस्लापुर स्टेशन का विकास टर्मिनल स्टेशन की तरह किया जाए। कटनी दोहरी लाइन चालू होने के बाद कई गाडियों को रायपुर के लिए घूमा दिया जाएगा। उस्लापुर स्टेशन का विकास महानगरीय उप और टर्मिनल स्टेशन की तरह होगा।

शिकायतों की करेंगे जांच

                     पत्रवार्ता में सोइन ने बताया कि सुरक्षा और व्यवस्था को लेकर पत्रकारों की शिकायतो को गंभीरता से लिया जाएगा। एक सवाल के जवाब में सोइन ने कहा कि अमेरी मानव समपार फाटक को गंभीरता से लेंगे। सर्वे के बाद फाटक पर ब्रिज बनाने का विचार किया जाएगा। लोगों की समस्या को रेलवे गंभीरता से लेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *