NSUI नेताओं ने कहा…स्वाती ने लगया बेटी पढ़़ाओं अभियान को करारा तमाचा…सरकार छात्रा को दे 50 लाख

बिलासपुर—कवर्धा में छात्रा के आत्महत्या के प्रयास पर एनएसयूआई नेताओं ने प्रशासन के खिलाफ प्रदर्शन किया। कलेक्टर कार्यालय पहुंचकर राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम पत्र दिया। इसके पहले एनएसयूआई नेताओं ने सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। कवर्धा में छात्रा के साथ अमानवीय व्यवहार और आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाले दोषी लोगों के किलाफ सख्त कार्रवाई की मांग की।

               सोमवार को एनएसयूआई की टीम वसीम की अगुवाई में कलेक्टर कार्यालय के सामने धरना प्रदर्शन कर राज्यपाल और मुख्यमंत्री के नाम जिला प्रशासन को पत्र दिया।  कवर्धा में छात्रा के आत्महत्या के प्रयास पर दुख जाहिर किया।

                    मालूम हो कि कुछ दिन पहले कवर्धा में छात्रा ज्योति बंजारे ने आत्महत्या का प्रयास की थी। जिसे किसी तरह किसी तरह बचा लिया गया। छात्रा ने आरोप लगाया है कि कालेज प्रबंधन उसके साथ अमानवीय व्यवहार करता है। जातिगत उलाहने देकर साफ-सफाई जैसे कार्य कराए जाता है। छात्रा के अनुसार कालेज प्रबंधन के इशारे पर सीनियर छात्र  रैगिंग लेकर परेशान करते हैं।

                                         एनएसयूआई नेता वसीम खान ने बताया कवर्धा मुख्यमंत्री का गृह जिला है। मुख्यमंत्री के गृह जिले में इस प्रकार की घटना से बेटी  बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान को झटका लगा है। एनएसयूआई की मांग है कि ज्योति बंजारे के दोषियों को कड़ी से कड़ी सजा मिले। ज्योति का इलाज  दिल्ली स्थित किसी बड़े अस्पताल में कराया जाए।

          एनएसयूआई जिला संयोजक स्वाति रजक ने कहा कि प्रदेश में बेटियां सुरक्षित नहीं हैं। घटना नारी सशक्तिकरण पर हमला है। रजक ने ज्योति बंजारे के लिए तत्काल 50 लाख रूपए नगद राहत राशि  की है। माग पूरी नहीं होने पर उग्र आंदोलन की चेतावनी भी दी है।

                             प्रदर्शन और जिला प्रशासन को रज्यपाल और मुख्यमंत्री को पत्र देने समय कांग्रेस नेता मणि वैष्णवस्वाति रजक,दानिश खान,आदित्य बीडीके,सन्नी ठाकुर,मोहसिन सिद्दीकी,नरेंद्र ठाकुर,राहुल हंसपाल,शुभेन्द्र पहुंचेल,अशद खान समेत बड़ी संख्या में एनएसयूआई के कार्यकर्ता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *