जोगी को क्लीन चिट नहीं मिली…कांग्रेस नेता शिव डहरिया ने कहा…देवव्रत जैसे नेता की कांग्रेस को जरूरत नहीं..

बिलासपुर— कांग्रेस के  अनुसूचित जाति प्रकोष्ठ को आज छत्तीसगढ़ कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष डॉ.शिवकुमार डहरिया ने रिचार्ज किया। डहरिया ने बताया कि पिछले 14 सालों से प्रदेश की जनता परेशान है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। अनुसूचित जाति,जनजातियों के साथ अन्याय हो रहा है।  बैठक में सरकार की कुटिल रीति नीति के बारे में कार्यकर्ताओं को अवगत कराया गया। संकल्प लिया गया कि प्रदेश सरकार को विधानसभा चुनाव में उखाड़ फेंकना है। साल 2019 में केन्द्र में सरकार बनाना है। डहरिया ने कहा कि जोगी और रमन सिंह में अच्छा गठबंधन है। यही कारण है कि हाईपावर कमेटी का गठन खामियों के साथ  किया गया।कार्यकर्ताओं को रिचार्ज करने के बाद अनुचित जाति प्रकोष्ठ के प्रमुख डॉ.शिव डहरिया ने पत्रकारों से बातचीत की। डहरिया ने कहा कि पिछले 14 साल से प्रदेश की जनता परेशान है। किसान,गरीब,बेरोजगार,अनुसूचित जाति और जनजाति के लोग खून के आंसू रो रहे हैं। कार्यकर्ताओं ने बैठक में प्रदेश सरकार को उखाड़ फेंकने का संकल्प लिया है।

आपके मुद्दे पुराने हैं और सरकार भी।  सरकार बनाने का दावा कैसे कर सकते हैं…इस सवाल पर  डहरिया ने बताया कि जनता की परेशानी भी बढ़ी है। जिम्मेदार केवल भाजपा सरकार है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। आदिवासियों की जमीन हड़पने की तैयारी हो रही है। बेरोजगारों की लम्बी कतार खड़ी है। सरकार के मुखिया पर भ्रष्टाचार का आरोप है। भाजपा संगठन मंत्री कहते हैं कि विधानसभा चुनाव प्रधानमंत्री के चेहरे से लड़ेंगे। समझा जा सकता है कि प्रदेश सरकार में ऐसा कोई चेहरा नहीं है जो दागदार ना हो। इसलिए हम साल 2018 में विधानसभा चुनाव जीतेंगे और सरकार भी बनाएंगे।

            जोगी की जाति और हाईकोर्ट के फैसले पर शिवकुमार डहरिया ने कहा कि हमने पहले ही कहा था कि हाईकोर्ट कमेटी का गठन तकनिकी रूप से ठीक नहीं है।पत्रकारों ने उस समय ध्यान नहीं दिया। बावजूद इसके कमेटी की रिपोर्ट सही है। समझने वाली बात है कि एक से अधिक संवैधानिक पदों पर एक साथ एक व्यक्ति कैसे हो सकता है। बावजूद इसके मुख्यमंत्री ने एक ही व्यक्ति को तीन पदों पर बैठाया। ताकि मित्रता निभाई जा सके। फिर कोर्ट ने तकनिकी आधार पर फैसला किया है। जोगी को जाति मामले में क्लीन चिट नहीं मिली है।




                              डहरिया ने बताया किसी व्यक्ति का एक मामले में एक ही सर्टिफिकेट होगा। लेकिन जोगी के साथ ऐसा नहीं है। जब शहडोल से चुनाव लडे सर्टिफिकेट इन्दौर का होता है। रायगढ़ से चुनाव लड़ते ही सर्टिफिकेट पेन्ड्रा का हो जाता है। मरवाही से बेटा लड़ता है तो जन्म प्रमाण पत्र जोगीसार का होता है। अमेरिका में पढ़ाई करते समय जन्म टेक्सास बताया जाता है। ड्रायविंग लायसेंस में इन्दौर का हो जाता है। बताएं कि सही क्या है और गलत क्या । बहरहाल जोगी को अभी जाति मामले में क्लीन चिट नहीं मिली है।

              एक सवाल के जवाब में डहरिया ने कहा कि कांग्रेस एकजुट हैं। हमारे बड़े नेता जमकर रणनीति के तहत पसीना बहा रहे हैं। कार्यकर्ताओं में भी जबरदस्त उत्साह है। गुटबाजी की कोई बात ही नहीं है।

शिव डहरिया ने कहा कि बजट निराशाजनक है। वित्त मंत्री ने किसानों को लालीपाप थमाया गया है। किसान आत्महत्या कर रहे हैं। किसानों को अब कांग्रेस सरकार बनने के बाद ही न्याय मिलेगा।

                    देवव्रत सिंह के कांग्रेस प्रवेश शिवडहरिया ने कहा कि जो लोग पार्टी के संविधान को मानते हैं उनका स्वागत है। जिन्हें लोकतंत्र में विश्वास नहीं है उन्हें जल्द से जल्द कांग्रेस छोड़ देना चाहिए। देवव्रत सिंह पहले तो माफी मांगते हैं बाद में पलट जाते हैं। ऐसे लोग कहीं भी जाए…उन्हेें कोई मतलब नहीं है। कांग्रेस को उनकी जरूरत भी नहीं है।

             डहरिया ने बताया कि जोगी की पार्टी बनने से कांग्रेस को फायदा है। जैसे जैसे चुनाव नजदीक आ रहा है। जोगी पार्टी के नेता तेजी से कांग्रेस में प्रवेश कर रहे हैं। भाजपा के नेता भी कांग्रेस की सदस्यता ले रहे हैं। गिरिधर रावड़े,डीपी धृतलहरे जोगी का साथ छोड़कर कांग्रेस में शामिल हो गए हैं। जोगी कांग्रेस में भगदड़ है..कांग्रेस में नहीं।

                            संतकुमार नेताम कांग्रेस में शामिल होंगे के सवाल को शिवडहरिया ने मुस्कुरा कर टाल दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *