पीएम बयान पर NSUI का अनोखा विरोध…गोलबाजार में लगाया पकौड़ा ठेला…कहा बेरोजगारों का उड़ाया मजाक..?.

बिलासपुर—एनएसयूआई कार्यकर्ताओं ने छात्र नेता वसीम खान की अगुवाई में गोलबाजार में पकौड़ा ठेला लगाया। अनोखे अंदाज में सरकार की रोजनगार नीतियों का विरोध किया। एनएसयूआई नेता वसीम खान ने बताया कि प्रधानमंत्री ने बयान दिया है कि दफ्तरों के बाहर जो लोग पकौड़े बेच रहे हैं। वह भी रोजगार के दायारे में आता है। व्यवस्था भाजपा सरकार के समय ही हुई है।

                      एनएसयूआई नेताओं ने वसीम खान की अगुवाई में गोलबाजार में पकौड़ा ठेला लगाकर भाजपा सरकार की रोजगार नीतियों का अनोखे अंदाज में विरोध किया। गोलबाज़ार चौक में पकौड़ा ठेला लगाकर एनएसयूआई छात्र नेताओं ने मोदी पकौड़ा बेचा। कार्यक्रम के दौरान एनएसयूआई छात्र नेत्रियों ने पकौड़े बनाये । छात्र नेताओं ने “मोदी पकौड़ों” को 5 रुपये प्रति प्लेट बेचा।वसीम ने बताया कि तीन घंटों में बेरोजगारों ने 180 रुपये का व्यवसाय किया है।

                             वसीम ने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने कुछ दिन पहले रोजगार को लेकर लम्बा चौड़ा बयान दिया है। उन्होने दावा किया है कि दफ्तरों के बाहर जो लोग पकौड़ा बेच रहे हैं,वह भी प्रति दिन 200 रूपए कमाकर घर जाते हैं। दफ्तरों के बाहर चाय पकौड़ा का ठेला लगाना भी रोजगार के दायरे में आता है। उन्होने कहा है कि यह व्यवस्था भाजपा सरकार के शासन में ही किया गया।

                                 पत्रकारों से बातचीत में छात्र नेता वसीम खान बताया कि मोदी जी ने एक साल में 2 करोड़ लोगों को रोजगार देने का आश्वासन दिया था। प्रधानमंत्री पूरी तरह से किए गए वादे में फेल हो चुके है। उन्होने दुर्भाग्यजनक बयान दिया है। एक पकौड़ा बेचने वाला भी कभी नहीं चाहेगा की उनका बच्चा पढ़ लिखकर पकौड़ा बेचे। हमें डर है कि कहीं भाजपा सरकार भीख मांगने को भी रोजगार में शामिल ना कर ले।

           कार्यक्रम में उपस्थित मणि वैष्णव प्रदेश महामंत्री ने कहा “कि प्रधानमंत्री का बयान हास्यास्पद है। देश के बेरोज़गार युवाओं की खिल्ली उड़ाने और दुखी करने वाला है। एक जमाना था कि 5 वीं पास व्यक्ति सरकारी नौकरी पा जाता था बावजूद इसके प्रधानमंत्री को चाय बेचना पड़ा। प्रतिस्पर्धा के दौर में प्रधानमंत्री डिग्रीधारियों से पकौड़े तलवा रहे हैं।

                         जावेद मेमन ने बताया कि भाजपा की जनविरोधी नीतियों ने बेरोजगारों को हंसी का पात्र बना दिया है। बेरोजगारों को पकौड़ा बेचने की सलाह देने वालों से जनता एक दिन जरूर पकौड़ा बनवाएगी।

      कार्यक्रम में वसीम खान,मणि वैष्णव,जावेद मेमन,राज यादव, दानिस खान,स्वाति रजक,मानसी यादव,ज्योति रजक,फैजान खान,राहुल हंसपाल, सन्नी ठाकुर,आदित्य बीडीके,मोहसिन सिद्दीकी,संदीप सिंह,राज चौहान,राजू यादव, ज्योति राऊ,सलमान अहमद,समीर खान,रूपेश,अजय मिश्रा,गौरव कुमार समेत अच्छी खासी संख्या में एनएसयूआई नेता मौजूद थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *