हार्दिक का आरोप,EVM पर चुनाव आयोग की राय अंतिम नहीं,शिकायतों को अनसुना नहीं कर सकता EC

24-HardikP_5गुजरात विधानसभा चुनाव के नतीजों के बाद पाटीदार आंदोलन के नेता हार्दिक पटेल ने ईवीएम को लेकर चुनाव आयोग के दावे पर सवाल उठाए हैं।ईवीएम में हुई गड़बड़ी का मुद्दा उठाते हुए पटेल ने कहा कि अगर कोई उम्मीदवार काउंटिंग को लेकर सवाल उठा रहा है तो चुनाव आयोग को उसकी मांग को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।पाटीदार अनामत आंदोलन समिति के नेता ने कहा, ‘चुनाव आयोग जो भी कह रहा है वह सर्वेसर्वा नहीं हो सकता। अगर किसी उम्मीदवार को ईवीएम से लेकर शिकायत है तो निश्चित तौर पर वीवीपैट से निकली पर्ची की फिर से गिनती की जानी चाहिए।’गौरतलब है कि मतों की गिनती से पहले हार्दिक ने ब़ड़ा आरोप लगाते हुए दावा किया था कि अहमदाबाद की सॉफ्टवेयर कंपनी ईवीएम से छेड़छाड़ की योजना बना रही है।राज्य विधानसभा के मतों की गिनती से एक दिन पहले हार्दिक ने ट्वीट कर कहा था, ‘अहमदाबाद की एक कंपनी 140 सॉफ्टवेयर इंजीनियर की मदद से 5,000 EVM मशीन के सोर्स कोर्ड से हेकिंग करने की तैयारी कर रही हैं।

‘हार्दिक ने दावा किया था कि अगर ईवीएम में गड़बड़ी नहीं हुई तो बीजेपी के चुनाव जीतने का सवाल ही पैदा नहीं होता।मतगणना के बाद गुजरात में जहां बीजेपी को 99 सीटें मिली हैं वहीं कांग्रेस को 77। 182 सीटों वाले विधानसभा में सरकार बनाने का जादुई आंकड़ा 92 और यहां बीजेपी आसानी से सरका बनाती दिख रही है।हालांकि पिछले विधानसभा चुनाव के मुकाबले बीजेपी की सीटों में कमी आई है वहीं वोटिंग फीसदी में इजाफा हुआ है।

गुजरात में पिछले ढ़ाई दशक में ऐसा पहली बार हुआ है जब बीजेपी 100 सीटों से नीचे आ गई।वहीं कांग्रेस के प्रदर्शन में जबरदस्त सुधार हुआ है। हार्दिक ने कहा कि कांग्रेस गुजरात में मजबूत विपक्ष के तौर पर उभरी है।कांग्रेस के प्रदर्शन और आने वाले दिनों में बतौर विपक्ष उसकी भूमिका के बारे में पूछे जाने पर हार्दिक ने कहा, ‘हमें यह देखना होगा कि वह कैसे विपक्ष की भूमिका का निर्वहन करते हुए लोगों के हितों की हिफाजत करते हैं।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *