कांग्रेस लगा रही झूठे आरोपः भाजपा

bjp kamal
             रायपुर। प्रदेश भाजपा के महामंत्री और विधायक शिवरतन शर्मा ने कहा है कि छत्तीसगढ़ में कांग्रेस तरह- तरह के झूठे, भ्रामक और मनगढ़ंत आरोपों के सहारे अपना अस्तित्व बचाए रखने का विफल प्रयास कर रही है। श्री शर्मा ने रविवार कोयहां प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल  विधायक सत्यनारायण शर्मा  तथा धनेन्द्र साहू और पूर्व विधायक मोहम्मद अकबर द्वारा प्रेस वार्ता में पीएमटी और पीएससी परीक्षाओं को लेकर राज्य शासन पर लगाए आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया।
                          श्री शर्मा ने कहा  कि कांग्रेस नेताओं के इन आरोपों में कोई सच्चाई नहीं है। उन्होंने कहा कि पीएमटी पर्चा लीक मामले को राज्य सरकार ने अत्यंत गंभीरता से लिया था और पुलिस को जांच करने और अपराधियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए थे। राज्य सरकार के निर्देश पर ही रायपुर और बिलासपुर में पुलिस ने प्रकरण दर्ज किया है। रायपुर में दर्ज प्रकरण में 11 लोग आरोपी बनाए गए हैं। इनमें से नौ लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है, जिनमे एक छात्र है और बाकी 8 बाहरी व्यक्ति हैं। इन लोगों पर अपराध क्रमांक 91-11 के तहत आईपीसी की धारा 420, 467 और 468 तथा परीक्षा में अनुचित साधनों का निवारण अधिनियम की धारा 4 (क) के तहत जुर्म दर्ज किया गया है।  इसमें अंतर्राज्यीय गिरोह का हाथ पाया गया है और पुलिस मामले की गंभीरता से विवेचना कर रही है। इसी तरह बिलासपुर में भी पुलिस ने मामला दर्ज कर 11 लोगों को गिरफ्तार किया है, जिनमें बी. साहू भी है। इसके अलावा 52 छात्र-छात्राओं को भी गिरफ्तार किया गया है।
                          श्री शर्मा  ने कहा कि व्यापम के तत्कालीन परीक्षा नियंत्रक  बी.पी. त्रिपाठी के खिलाफ मिली शिकायतों को  राज्य सरकार ने गंभीरता से लेकर उन्हें पद से हटा दिया और उनके खिलाफ उच्च स्तरीय जांच तकनीकी शिक्षा विभाग द्वारा की गई है, जिस  पर कार्रवाई प्रचलन में  है।  शिवरतन शर्मा  ने कांग्रेस नेताओं द्वारा छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग पर लगाए गए आरोपों का खंडन करते हुए कहा कि आयोग ने मध्यप्रदेश के परीक्षार्थियों को लाभ पहुंचाने के लिए परीक्षा की तारीख नहीं बढ़ाई बल्कि यह तारीख इसलिए बढ़ाई गई, क्योंकि सर्वोच्च न्यायालय ने नि:शक्तजनों के लिए आरक्षण 3 प्रतिशत से बढ़ाकर 6 प्रतिशत करने का आदेश दिया था। सर्वोच्च न्यायालय के आदेश के अनुसार नि:शक्तजनों को पीएससी की परीक्षा में पर्याप्त अवसर देने के लिए तारीख बढ़ाई गई थी। श्री शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार ने लोक सेवा आयोग की सम्पूर्ण परीक्षा प्रणाली को ऑनलाईन करके शतप्रतिशत पारदर्शी बनाया है। इसलिए आयोग की परीक्षाओं में किसी भी प्रकार का संदेह नहीं किया जाना चाहिए। श्री शर्मा ने यह भी कहा कि कांग्रेस नेताओं द्वारा अपने आलाकमान की नजरों में अपनी सक्रियता दिखाने के लिए राज्य सरकार पर झूठे आरोप लगाए जा रहे हैं, जिसे प्रदेश की जनता अच्छी तरह समझ चुकी है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *