जनता कांग्रेस में कलह…अंकित का बयान-संस्थापक सदस्य ने लिया 50 लाख

ANKIT GOURAHAबिलासपुर– सिर मुंडाते ही ओले गिरने लगे…तीन चार दिन पहले ही जनता कांग्रेस छत्तीसगढ़ के नेताओं ने पार्टी गठन का वर्षगांठ मनाया। भ्रष्टाचार के खिलाफ लड़ने का एलान किया था। लेकिन वर्षगांठ के तीन दिन बाद ही जोगी कांग्रेस के पार्टी प्रमुख ने बेलतरा क्षेत्र के युवा नेता अंकित गौरहा को प्राथमिक सदस्यता से निष्कासित कर दिया। अंकित गौरहा के अनुसार मुझे पार्टी के संस्थापक सदस्यों में से एक ने साजिश का शिकार बनाया है। पार्टी संस्थापक सदस्य ने आंदोलन को दबाने और पार्टी से बाहर निकलवाने के लिए अधिकारियों से 50 लाख रूपए लिए हैं। जल्द ही पार्टी के संस्थापक सदस्य और मुंगेली के इस बड़े नेता का नाम पत्रकारों के सामने उजागर करूंगा।सीजीवाल

                        जनता कांग्रेस नेताओं में मल्लयुद्ध शुरू हो गया है। कुछ दिन पहले ही नेताओं ने पार्टी का जन्मदिन मनाया था। वर्षगांठ के ठीक तीन चार दिन बाद बेलतरा विधानसभा के युवा नेता बिलासपुर संभागीय प्रभारी अंकित गौरहा को बाहर का रास्ता दिखा दिया गया । अंकित गौरहा की पार्टी से प्राथमिक सदस्यता खत्म कर दी गयी है। अंकित गौरहा ने इसके लिए मुंगेली के किसी बड़े नेता को जिम्मेदार बताया है।सीजीवाल गौरहा ने बताया कि भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरा अभियान चालू रहेगा। लेकिन इसके पहले मुंगेली के उस वरिष्ट नेता के चेहरे से नकाब उतारूंगा। जो जनता कांग्रेस छत्तीसगढ का संस्थापक सदस्य भी है। जिसने भ्रष्टाचार के खिलाफ मेरे आंदोलन को खत्म करने और पार्टी से बाहर निकालने की साजिश की। जिसने पचास लाख रूपए के लिए ना केवल अपना जमीर बेचा…पार्टी के सिद्धान्तों के खिलाफ काम किया। इतना ही नहीं इस नेता ने पार्टी प्रमुख को भी ब्लैकमेल किया है।

क्या था आंदोलनchakka jam

                   मालूम हो कि कुछ दिन पहले अंकित गौरहा ने कोटा तखतपुर क्षेत्र की कुछ सड़कों को लेकर चक्काजाम किया था। गौरहा का आरोप था कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत बनाई गयी सड़कों में सात करोड़ का घोटाला हुआ है। 2010-11 और 2015-16 में सडक बनाई गयी थी। लेकिन तीन चार महीने ही सभी सड़के बर्बाद हो गयीं। निर्माण से जुडी अग्रवाल इन्फ्राबिल्ड और बिटुमेक कन्स्ट्रक्शन कंपनी ने अधिकारियों के साथ मिलकर सरकार को सात करोड़ रूपये का चपत लगाया। पहली ही बरसात में सड़क गायब हो गयी। बाद में सड़क मरम्मत के रूपयों को भी बांट लिया।सीजीवाल

मुंगेली नेता ने दी कांग्रेस में जाने की धमकी 

                       अंकित गौरहा ने बताया कि सड़क निर्माण में जोगी कांग्रेस के संस्थापक सदस्य के रिश्तेदार का नाम  हैं। खुद मुंगेली नेता ने जोगी के सामने कबूल किया है। सच्चाई यह है कि मुंगेली नेता और अधिकारी के बीच पचास लाख रूपयों की लेन देन की रिश्तेदारी है। यह जानते हुए भी कि अधिकारियों ने ठेकेदारों से मिलकर सरकार को सात करोड़ रूपए का पलीता लगाया है। भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन किया तो मुंगेली के नेता को तकलीफ हुई। क्योंकि जोगी कांग्रेस के संस्थापक सदस्य ने अधिकारियों से पचास लाख रूपए में आंदोलन को दबाने का बीड़ा उठाया था। मेरे नहीं माने जाने पर संस्थापक सदस्य ने पार्टी प्रमुख से कहा कि यदि अंकित नहीं माना तो मैं कांग्रेस में चला जाउंगा। पार्टी प्रमुख ने संस्थापक सदस्य को खुश करने मुझसे इस्तीफा देने को कहा। मामला  मीडिया में आया तो उस नेता ने जोगी को ब्लैकमेल कर मुझे प्राथमिक सदस्यता से निकलवा दिया।सीजीवाल

पारिवारिक नहीं परिवार के में इस्तीफा

     SADAK                    अंकित ने कहा कि रिश्तेदारी और पचास लाख रूपए को बचाने के लिए मुझे पार्टी से निकाला गया है। मैने पद से इस्तीफा पारिवारिक कारणों से नहीं बल्कि रिश्तों के दबाव में दिया है। मेरी लड़ाई बड़ी हो गयी है। सड़क निर्माण में भ्रष्टाचार करने वालो के साथ पचास लाख रूपए लेने वाले नेता के भोले भाले चेहरे को भी बेनकाब करूंगा। जरूरत पड़ी तो कोर्ट भी जाउंगा।

किन सड़कों को लेकर आंदोलन

                    गौरहा ने बताया कि प्रधानमंत्री प्रभारी कार्यपालन अभियंता और अन्य अधिकारियों ने तखतपुर और बिल्हा विकासखण्ड में बनायी गयी सड़कों में करोड़ों का बंदरबांट हुआ है। सड़क निर्माण के समय अर्थवर्क,सबग्रेड,जीएसबी,डब्लूबीएम,पीएमसी,सील कोट और कांक्रीट गुणवत्ता को ध्यान नहीं दिया गया। इनमें जाजी नवागांव मुडापार, सीपत नवागांव से मचखण्डा सड़क,बिलासपुर-बलौदा रोड- ऊनी, सोढ़ी- जुहली, जयरामनगर- रॉक, निरतु- आमानार, जोंधरा- भिलौनी, मोछ- खैरी , कंचनपुर- अधरियापारा, खपरी करगी रोड- घोरामार , मरहीकापा मेन रोड- बेलटुकरी, खपरी करगी रोड-  साल्हेकापा, सकरी- दलदहियापारा, कोटा रोड- चोरभठ्ठी, घुरू मेन्ड्रा- पांड़ की सड़कें शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *