सगे भाइयो के अपहरण का खुलासा..दो गिरफ्तार..चार फरार

IMG20170427161559 बिलासपुर—बिलासपुर पुलिस कप्तान मयंक श्रीवास्तव ने 24 अप्रैल को सरकण्डा थाना क्षेत्र से दो बच्चों के अपहरणकाण्ड का खुलासा किया है। एसपी ने बताया कि घटना में शामिल दो आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है। चार अन्य आरोपी पुलिस गिरफ्त से दूर हैं। गिरफ्तार आरोपियों के नाम आकाश तिवारी  पिता रामलाल तिवारी चौबे कालोनी का रहने वाला है। वकील अंसारी पिता इबादत अंसारी सागर होम्स सकरी क्षेत्र का है। चार अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। पुलिस कप्तान ने बताया कि अपहृत बच्चों के परिवार से फरार आरोपी नानू ऊर्फ आकाश यादव का पुराना परिचय है।

                     बिलासागुड़ी में 24 अप्रैल को दिन दहाड़े अहरणकाण्ड का पुलिस कप्तान मंयक श्रीवास्तव ने खुलासा किया है। एसपी ने बताया कि रोज की तरह विनोद केशरवानी के दोनो बच्चे साढ़े ग्यारह बजे दुकान नहीं पहुंचे। इसके बाद विनोद केशरवानी ड्रीमलैण्ड स्कूल गये। बच्चों को नहीं पाकर परिचितों को फोन लगाया। इसी बीच विनोद के मोबाइल पर एक काल आया। कालर ने बताया कि बच्चे उसके पास है। उत्तर प्रदेश से बोल रहा हूं। बच्चों को सही सलामत चाहते हो तो दो करोड़ रूपए की व्यवस्था करो।

                       इसके बाद विनोद केशरवानी सरकंडा माथाना गए। करीब एक बजे एफआईआर दर्ज कराया। अपहरण की जानकारी मिलते ही आईजी पुरूषोत्तम गौतम और पुलिस के अन्य आलाधिकारी सक्रिय हो गए। टीम बनाकर जगह जगह भेजा गया। नगर समेत बिलासपुर जिले के आस पास सभी जिलों को अलर्ट कर नाकेबंदी की गयी।  छानबीन के दौरान पुलिस को जानकारी मिली कि प्रार्थी विनोद केशरवानी के पहचान में नानू नाम का युवक कुछ लोगों के साथ सरकंडा में देखा गया। मयंक ने बताया कि नानू यादव का भाई हिस्ट्रीशीटर है। इसके बाद नानू की तलाश तेज कर दी गयी। IMG20170427160659

                                 पत्रकारों को मयंक श्रीवास्तव के अनुसार छानबीन के दौरान मालूम हुआ कि दोनो बच्चों को नानू के साथ देखा गया था। इस बीच सायबर सेल ने खुलासा किया कि विनोद केशरवानी को कोतमा मध्यप्रदेश से फोन आया था। मोबाइल से अन्य लोकेशन का पता लगाया गया। जहां जहां बातचीत हुई दबिश दी गयी। दबिश के दौरान पुलिस ने सकरी स्थित सागर होम्स से वकील अंसारी को हिरासत में लिया। पूछताछ के बाद आलोक तिवारी को भी गिरफ्तार किया गया।

                 मयंक श्रीवास्तव ने कहा कि आरोपियों और बच्चों से पूछताछ की गयी। पूछताछ के अनुसार नानू और आलोक तिवारी ने बताया कि स्कार्पियों से दोनों बच्चों को साढ़े ग्यारह बजे सांई मंदिर से उठाया। नानू ने बच्चों को बताया कि उनके पिता ने लेने के लिए भेजा है। इसके बाद स्कार्पियों अशोक नगर पानी टंकी के पास रूकी। तीन नकाबपोश स्कार्पियों में सवार हुए। नानू स्कार्पियों से उतर गया।

                             दोनो बच्चों को लेकर अपहरणकर्ता तखतपुर मुंगेली की तरफ निकल गए। मोवाइल लोकेशन के अनुसार सकरी में बातचीत होने की जानकारी मिली। दूसरे दिन मुखबिर से सूचना मिली के अपहृत दोनों बच्चे मुंगेली से बिलासपुर आ रहे हैं। कंडक्टर ने बच्चों के पिता विनोद केशरवानी को फोन किया कि बस मंगला चौक पहुंचने वाली है। इस बीच पीछे फालो गाड़ी को भी लगा दिया गया था।

                                                     मयंक श्रीवास्तव ने पत्रकारों को बताया कि बच्चों को मुंगेली में रात्रि रखा गया था। सुबह आरोपियों ने ही बस में बैठाया। किराए के पैसे भी दिए। इस बीच मोबाइल लोकेशन और मुखबिर की सूचना पर सागर होम्स सकरी से वकील अंसारी को हिरासत में लिया गया। वकील अंसारी पिता इबादत अंसारी हरिहर गंज जिला औरंगाबाद बिहार का रहने वाला है। वकील अंसारी दो एक बार जेल भी जा चुका है।

                       चार अन्य आरोपियों की तलाश की जा रही है। नानू ऊर्फ आकाश यादव फरार है। पुलिस चारों की गतिविधियों और ठिकानों पर नजर रखी है। जल्द ही पकड़ लिया जाएगा। एसपी ने नानू ऊर्फ आकाश यादव के अलावा फरार तीन अन्य आरोपियों का नाम टेक्निकल कारणों से बताने से इंकार किया।

                                        उन्होने बताया कि छानबीन के दौरान मुंगेली स्थित विवादास्पद दुकान के बारे में भी जानकारी इकठ्ठी की गयी थी। घटना में प्रयुक्त स्कार्पियो और मोटर सायकल को बरामद कर लिया गया है।

Comments

  1. By Vishnu dhankar

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *