मुंगेलीः अवैध निर्माण मामलें मे पकड़ा गया  इंजीनियर विनोद , 3 अभी भी फरार

mungeli eng.मुंगेली-( आकाश दत्त मिश्रा ) शासकीय शाला प्रांगण में अवैध रूप से  व्यावसायिक परिसर निर्माण करने और फर्जी दस्तावेज तैयार कर कूटरचना करने में  4 आरोपियों में से 1 नगर पालिका इंजीनियर विनोद यादव को मुंगेली क्राइम ब्रांच की टीम ने उसके अंबिकापुर स्थित निवास में दबिश देकर गिरफ्तार कर लिया है। विनोद यादव को उसके मोबाइल लोकेशन के आधार पर फॉलो किया गया फलस्वरूप मुंगेली क्राइम ब्रांच को सफलता प्राप्त हुई।
पिछले 20 मार्च को नगर पालिका की शिकायत के आधार पर आरोपी शिवदत्त बंजारे, समीर आहिरे, विनोद यादव और संतू लाल सोनकर के खिलाफ 420,466,409,120B IPC का मामला दर्ज किया गया। FIR दर्ज होते ही आरोपी अपना बोरिया बिस्तर बांधकर मुंगेली से फरार हो गए , बीच बीच में फरार आरोपियों के शहर में देखे जाने की खबर पुलिस को मिलती रही लेकिन हर बार आरोपी पुलिस के मुकाबले ज्यादा सक्रिय और चुस्त नज़र आये, विनोद यादव की गिरफ्तारी की सफलता से मुंगेली पुलिस और क्राइम ब्रांच  खुद  अपनी पीठ भले थपथपा सकती है लेकिन अन्य 3 फरार आरोपियों की गिरफ्तारी कर पाने में पुलिस अभी भी नाकाम है।
फिलहाल विनोद यादव से पुलिस कड़ी पूछताछ कर रही है ,  एस डी ओपी ओम  चंदेल ने बताया कि पूछताछ में और भी नाम सामने की संभावना है।
इसके लिए विनोद यादव की रिमांड बढ़ाई भी जा सकती है।
गिरफ्तार हुए आरोपी विनोद यादव  की माने तो उसे इस मामले में जबरिया फसाया गया है उसने हमेशा वहीँ काम किया जो नगर पालिका के मुख्य अधिकारी का आदेश हुआ करता था,  वहीँ नगर पालिका के कर्मचारी पूर्णानंद शर्मा के खाते में रकम लेने की बात को सिरे से नकारते हुए विनोद ने कहा कि उस लेनदेन से मेरा कोई लेना देना नहीं है पूर्णानन्द अपनी नौकरी बचाने के लिए झूठ बोल रहे है।
अवैध निर्माण फर्जी दस्तावेज और पैसे का लेनदेन  इन सब के बीच पुलिस की कार्यवाही में दोषी बने इंजीनियर विनोद यादव की बात में कितनी सच्चाई है ये तो आने वाले समय में ही पता चल सकेगा लेकिन फरार अन्य आरोपियों की गिरफ्तारी में हो रही देरी मुंगेली पुलिस के लिए गले की फांस बनेगी इस बात से इंकार नहीं किया जा सकता।

Comments

  1. By Nikhil soni

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *