एसईसीआर का रेलवे बोर्ड ने थपथपायी पीठ

IMG-20161226-WA0013बिलासपुर— रेलवे बोर्ड ने बिलासपुर जोन को माल ढुलाई में देश का अव्वल जोन बताया है। रेलवे बोर्ड चेयरमैन ने विडियो कान्फ्रेंगि के दौरान महाप्रबमधक दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे जानकारी दी। जानकारी के अनुसार साल 2016-17 में जोन से 177 मिलियन टन माल ढुलाई का लक्ष्य दिया गया है। पहली तिमाही में जोन ने पिछले साल की तुलना में साढ़े प्रतिशत से अधिक माल ढुलाई किया है।

                                   रेलवे प्रशासन से मिली जानकारी के अनुसार बिलासपुर जोन ने प्रथम तिमाही में पिछले साल की तुलना में साढे छः प्रतिशत से अधिक 57.50 मिलियन टन माल ढुलाइ्र्र किया है। पिछले साल प्रथम तिमाही में 53.94 मिलियन टन माल ढुलाई हुई थी। वर्तमान वित्तीय वर्ष अप्रैल माह से अब तक दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने पांच मिलियन टन अधिक 126.10 मिलियन टन माल ढुलाइ्र्र की है।

                2003 में जोन स्थापना के बाद दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे माल परिवहन में भारतीय रेल का सबसे कमाऊ पूत रहा है। माल लदान में रिकार्ड तोड़ने में कामयाब एसईसीआर जोन ने पिछले वित्तीय वर्ष 2015-16 में माल लदान में पूरे भारतीय रेलवे में सर्वाधिक सापेक्षिक वृद्वि की है। पिछले चार लगातार वित्तीय वर्षों में 150 मिलीयन टन से भी अधिक माल लदान करने वाला भारतीय रेलवे का एकमात्र जोन रहा है। देश की आर्थिक गतिविधियों में दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे की भूमिका हमेशा अहम रही है।

                    दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे में माल लदान वृद्वि ऐसे समय में देखने को मिल रहा है जब जोन में आधारभूत संरचनाओं के विकास के लिये रेल लाइनों का दोहरीकरण एवं तीहरीकरण जैसे कई महत्वपूर्ण परियोजनाओं पर कार्य किया जा रहा है। दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ने कोयला और अन्य खनिजों के लदान में बढ़ोत्तरी कर छत्तीसगढ़ की अर्थव्यवस्था को गतिमान बनाया है।

टिकट चेकिंग अभियान

रेल प्रशासन ने सक्ती स्टेशन में अचानक टिकट चेकिंग अभियान चलाकर 80 मामलों को दर्ज किया है। बिना टिकट के 19 मामलों से 5,660 रूपये। अनियमित टिकट के 32, बिना बुक लगेज के 27  समेत गंदगी फैलाने के दो मामलों में जुर्माना वसूल किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *