चौकीदार की मनमानी…बार-बार गिरा एटीएम का शटर

bnk1बिलासपुर– मोदी के आधे घंटे भाषण  बाद देश की अर्थव्यवस्था में तूफान आ गया। आठ नवम्बर को प्रधानमत्री ने जैसे भाषण खत्म किया देर रात तक एटीएम में पुराने नोटों के साथ लोगों का तांता लग गया।  500 और 1000 के नोट बंदलने देश प्रदेश समेत छत्तीसगढ़ की न्यायाधानी बिलासुपर में भी हड़कंप मच गया। 9 और 10 नवम्बर के बाद एटीएम ने मुंह खोला तो जरूर लेकिन कई एटीएम से केवल पर्चियां ही निकली। एटीएम से पांच और दो हजार के नोट भी नहीं मिले।

                             500 और 1000 के नोट बंद होने के बाद दो दिन बाद शुक्रवार को बंद एटीएम ने मुंह खोला। सुबह से ही एटीएम के सामने लम्बी कतार देखने को मिली। लेकिन ज्यादातर एटीएम दोपहर तक ड्राय हो गए। बिलासपुर से लगे रिमोट  एरिया में चौकीदारों ने एटीएम का शटर जानबूझकर गिरा दिया। जिसके चलते ग्राहकों को उल्टे पांव दूसरे दरवाजे की तरफ जाना पड़ा। लोगों ने बताया कि चौकीदार ने एटीएम का शटर जानबूझ कर गिरा कर रखा है। चहेतों को बुलाकर शटर खोलता है और बाद में बंद कर देता है।

                          बता दें कि एक आदमी एक कार्ड के जरिए एक दिन में केवल 2000 रुपये ही निकाल सकता है। बाद में इसकी सीमा बढ़ाकर 4000 रुपये कर दी जाएगी। आज शनिवार को भी बैंकों और एटीएम में भारी भीड़ देखने को मिल सकती है।

                                       शुक्रवार के पूरे दिन और शनिवार को सुबह पेट्रोल पंप से लेकर, रेलवे स्‍टेशन और अस्‍पतालों में पुराने नोट के लेन देन को लेकर  झिकझिक देखने को मिला। कई जगह तो लोगों ने 2000 रुपए के नए नोट मिलने के बाद सेल्‍फी लिया।

जिला प्रशासन ने दिखाई सक्रियताbnk2

          रेलवे , पेट्रोल पंप और बिजली कार्यालय में पुराने नोट को लेकर झिकझिक की खबर मिलते ही जिला प्रशासन ने सक्रियता दिखाते हुए लोगों की परेशानियों को गंभीरता से लिया। शुक्रवार को देर शाम तक सभी कार्यालयों में पुराने नोट चलने लगे। जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक में भी ग्राहक नोट जमा करते हुए पाए गये। मालूम हो कि जिला केन्द्रीय सहकारी बैंक को राजपत्र में शामिल नहीं किया गया था। लेकिन जिला प्रशासन की सक्रियता के बाद शुक्रवार को पुराने नोट जमा करने की अनुमति दी गयी।

चौकीदार की मनमानी

                शुक्रवार को शहर के ज्यादातर एटीएम दोपहर बाद ड्राय की स्थित में पहुंच गए। लोगों ने रिमोट क्षेत्र की ओर नोट लेने रूख किया। सकरी स्थित एटीएम में भी लोगों ने हाथ आजमाया। शुरू में एटीएम ने जमकर सौ रूपए के नोट जमकर दिये। बाद में एटीएम का शटर चौकीदार ने गिरा दिया। आधे आधे घंटे के लिए एटीएम का शटर खुला। दो चार लोग सौ रूपए के नोट निकालते और उसके बाद शटर को गिरा दिया जाता।

                      सीजी वाल की टीम ने भी सकरी एसबीआई एटीएम पहुंचकर रूपए निकालने का प्रयास किया। चौकीदार ने बताया कि थोड़ी देर बाद शटर उठाता हूं। जल्दी से रूपए निकालकर रवाना हो जाना। किसी को बताने की जरूरत नहीं है। चौकीदार ने शटर उठाया..अन्दर कुछ किया..फोन से किसी से बात किया इसके बाद एटीएम ने काम करना शुरू कर दिया। रूपए निकालने वालों में दो एक लोग चौकीदार के पहचान के थे। जैसे ही भीड़ बढी एटीएम ने काम करना बंद कर दिया। लोग नाराज होकर लौट गए। चौकीदार ने हमेशा की तरह शटर को गिराया।

            आसपास के लोगों ने बताया कि चौकीदार ने दिनभर में करीब दस बार शटर उठाया और गिराया। हर बार दो चार लोग रूपए निकालकर गए। लोगों ने बताया कि चौकीदार पहचान के लोगों को बुलाकर एटीएम खोलता है…बाद में बंद कर देता है। इस बीच किसी को फोन करता है..एटीएम चालू हो जाता है…फिर बंद हो जाता है। यह कैसे होता है इसकी जानकारी किसी को नहीं है। बताने वालों ने बताया कि चौकीदार शायद कमीशन लेता है।

नहीं होगा एटीएम ड्राय

            शुक्रवार को जगह जगह एटीएम ड्राय की खबर के बाद जिला प्रशासन ने कहा कि रूपए पर्याप्त हैं। सभी एटीएम पर जिला प्रशासन की नजर है। शनिवार को किसी भी एटीएम में ड्राय होने की शिकायत नहीं मिलेगी। सुरक्षा की पुख्ता व्यवस्था की गयी है। इस दौरान लोगों को सावधान भी रहने की जरूरत है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *