माओवाद छत्तीसगढ़ की बड़ी चुनौती

maowad 1

रायपुर । केन्द्रीय गृह मंत्री  राजनाथ सिंह ने कहा है कि किसी भी राज्य और देश के शांतिपूर्ण विकास के लिए सुरक्षा सबसे महत्वपूर्ण शर्त होती है। जनता को सुरक्षा देने का काम पुलिस करती है। छत्तीसगढ़ पुलिस अपने इस दायित्व का बहुत अच्छे से निर्वाह कर रही है। यही कारण है कि छत्तीसगढ़ विकास के रास्ते पर तेजी से आगे बढ़ रहा है। उन्होने शनिवार को  शाम नया रायपुर में 54 करोड़ 22 लाख रूपए की लागत से 16 हजार 500 वर्ग मीटर में निर्मित पुलिस मुख्यालय भवन का लोकार्पण करते हुए ये बातें कहीं। लोकार्पण समारोह की अध्यक्षता मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने की।

केन्द्रीय गृह मंत्री ने कहा कि आम तौर पर पुलिस और सुरक्षा बल का कार्य हमेशा चुनौतीपूर्ण होता है, लेकिन छत्तीसगढ़ पुलिस का रास्ता तो और ज्यादा कठिन है। माओवाद इस राज्य की बड़ी चुनौती है। पुलिस और सुरक्षा बल ने बड़े आत्म-विश्वास के साथ इस चुनौती को स्वीकार किया है। मैं छत्तीसगढ़ पुलिस का अभिनंदन करना चाहता हूं। केन्द्रीय गृह मंत्री ने छत्तीसगढ़ की विगत 12 वर्षो की विकास यात्रा की प्रशंसा करते हुए कहा कि मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह के नेतृत्व में प्रदेश सरकार द्वारा किए गए कार्यो से हुए बदलाव छत्तीसगढ़ में स्पष्ट रूप से दिखाई दे रहे हैं। उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ सरकार ने विकास के रास्ते में आ रही समस्याओं का हल निकालने में बखूबी कामयाबी पाई है। श्री सिंह ने उम्मीद जताते हुए कहा कि कुछ वर्षों में छत्तीसगढ़ की गिनती देश के विकसित राज्यों में होगी।
समारोह में लोक सभा सांसद  रमेश बैस, राज्य सभा सांसद डॉ. भूषण लाल जांगड़े, कृषि मंत्री  बृजमोहन अग्रवाल, लोक निर्माण मंत्री  राजेश मूणत, महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती रमशिला साहू, संसदीय सचिव  लाभचंद बाफना, आरंग विधायक नवीन मारकण्डेय विशेष अतिथि के रूप में उपस्थित थे। मुख्य सचिव  विवेक ढांड और पुलिस महानिदेशक  ए.एन. उपाध्याय सहित शासन-प्रशासन तथा पुलिस के वरिष्ठ अधिकारी भी समारोह में मौजूद थे। समारोह की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री  नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में केन्द्र सरकार देश के विकास के लिए पूरी इमानदारी और पारदर्शिता के साथ काम कर रही है। विगत एक वर्ष में केन्द्र ने समाज के सभी वर्गो की बेहतरी के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाओं की शुरूआत की है। सिर्फ एक साल की इस अल्प अवधि में देश की जनता में एक नया उत्साह और आत्म-विश्वास जागृत हुआ है। हिन्दुस्तान के क्षितिज पर एक नये सूर्य का उदय हुआ है।

गृह मंत्री श्री सिंह के हाथों लोकार्पित पुलिस मुख्यालय का यह भवन लगभग 54 करोड़ 22 लाख रूपए की लागत से मंत्रालय के पास लगभग 16 हजार 500 वर्ग मीटर में बना है। यह भवन दो मंजिला है और आधुनिक ढंग से सर्वसुविधायुक्त बनाया गया है। पुलिस मुख्यालय भवन में सहायक पुलिस महानिरीक्षक स्तर से अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक स्तर तक के अधिकारियों के लिए ब्लाक-एक में 13 कमरे, ब्लाक-दो में आठ कमरे, ब्लाक-3 में नौ कमरे तथा ब्लाक चार में 13 कमरे यानी कुल 43 कमरे बने हैं। वर्तमान में पुलिस मुख्यालय में एक पुलिस महानिदेशक, पांच अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, पांच पुलिस महानिरीक्षक, चार पुलिस उप महानिरीक्षक तथा 16 सहायक पुलिस महानिरीक्षक/पुलिस अधीक्षक स्तर के अधिकारियों के अलावा 700 राजपत्रित अधिकारी एवं अन्य संवर्ग के अधिकारी-कर्मचारी कार्यरत हैं।
 

Comments

  1. By रवि शंकर सिंह

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *