सकारात्मक ऊर्जा का संचार करते हैं खेल- प्रोफेसर अंजिला गुप्ता

khel cu1बिलासपुर। गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के शारीरिक शिक्षण विभाग द्वारा सोमवारको प्रात: 9.30 बजे विश्वविद्यालय के स्पोर्ट्स एरीना में राष्ट्रीय खेल दिवस के अवसर पर विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन किया। इस पर आयोजित कार्यक्रम की मुख्य अतिथि विश्वविद्यालय की कुलपति प्रोफेसर अंजिला गुप्ता ने छात्र-छात्राओँ को संबोधित करते हुए कहा कि खेल व्यक्ति के जीवन में सकारात्मक ऊर्जा का सजृन करता है साथ ही व्यक्तित्व को निखारने, अनुशासन के साथ समय प्रबंधन के गुणों का भी विकास करता है।

हॉकी के जादूगर मेजर ध्यानचंद के जन्मदिन को देश में राट्रीय खेल दिवस के रूप में मनाया जाता है। इस अवसर पर कुलपति प्रोफेसर गुप्ता ने शारीरिक शिक्षा विभाग के छात्र-छात्राओँ के एरोबिक्स और पिरामिड फॉर्मेशन के प्रदर्शन की जमकर तारीफ करते हुए कहा कि उनका प्रदर्शन ध्यान, अनुशासन, नियम एवं संयम का परिचायक है। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में जल्दी ही शारीरिक शिक्षा विभाग एवं शिक्षा विभाग का एक साथ एक भवन का निर्माण कार्य शुरू हो जावेगा साथ ही उन्होंने एक अत्याधुनिक संसाधनों से लैस जिमनेशियम के तैयार किये जाने की भी घोषणा की।

इस अवसर पर कुलपति प्रोफेसर गुप्ता ने प्रधानमंत्री के मन की बात कार्यक्रम का जिक्र भी किया। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री  खेलों के स्तर एवं खिलाड़ियों के प्रदर्शन को लेकर गंभीर हैं। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में प्रतिभाओँ की कमी नहीं है साथ ही शारीरिक शिक्षण विभाग के शिक्षक उन्हे निखारने में कोई कमी नहीं छोड़ रहे हैं। उन्होंने एरोबिक्स एवं पिरामिड फॉर्मेशन की शिक्षा देने वाले शिक्षकों को उनके प्रदर्शन के लिए बधाई दी।khel cu 2

इस अवसर पर विश्वविद्यालय के कुलसचिव कार्यवाहक प्रोफेसर बी.एन. तिवारी ने छात्र-छात्राओँ के प्रदर्शन की तारीफ करते हुए सफल आयोजन के लिए शारीरिक शिक्षा विभाग की टीम को बधाइयां दीं।

कला अध्ययनशाला के अधिष्ठाता प्रोफेसर मनीष श्रीवास्तव ने कहा कि खेलों के परिपेक्ष्य, परिवेश में हमें अभी लंबा सफर तय करना है। उन्होंने कहा कि स्व-अनुशासन एवं परिश्रम के बल पर ही नई मंजिल को हासिल किया जा सकता है।

कार्यक्रम के आयोजक शारीरिक शिक्षा विभाग के विभागाध्यक्ष प्रोफेसर विशन सिंह राठौड़ ने कहा कि खेलों माध्यम से आप जीवन में अनुशासन, एकाग्रता एवं संगठन क्षमता को सीखते हैं। उन्होंने विभाग के छात्र-छात्राओँ द्वारा प्रदर्शित एरोबिक एक्सरसाइज एवं पिरामिड फॉर्मेशन की भी तारीफ की।

कार्यक्रम के अंत में धन्यवाद ज्ञापन शारीरिक शिक्षा विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. संजीत सरदार ने किया। कार्यक्रम का संचालन शारीरिक शिक्षा विभाग की सहायक प्राध्यपक सुश्री शालिनी मेनन ने किया। इस अवसर पर बड़ी संख्या में शिक्षकगण, शोधार्थी  एवं छात्र-छात्राएं मौजूद थे।

 

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *