प्राकट्य महोत्सव व श्री वरूण महायज्ञ प्रारंभ

IMG-20160628-WA0092भिलाई। पुरी पीठाधीश जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती जी महाराज का 5 दिवसीय 73वां प्राकट्य महोत्सव भक्तिमय वातावरण में आज प्रारंभ हो गया। पहले दिन वैदिक मंत्रोंचारण और बाजे गाजे के साथ 501 कलश यात्रा निकाली गई। यज्ञशाला में कलश प्रवेश के बाद वैदिक विधि विधान के साथ वेदी पूजा की गई। 29 जून को यज्ञशाला में देव स्थापना की जाएगी और छत्तीसगढ़ की जनता की सुख, समृद्वि और कल्याण के लिए श्री वरूण महायज्ञ प्रारंभ होगा। प्राकट्य महोत्सव से भिलाई का पूरा माहौल मंत्रोंचारण से गंूज उठा है। आस्था की यह बयार 5 दिनों तक चलती रहेगी।

               पुरी पीठाधीश जगद्गुरु शंकराचार्य स्वामी निश्चलानंद सरस्वती जी महाराज के प्राकट्य महोत्सव के पहले दिन आज भिलाई का पूरा माहौल भक्तिमय नजर आया। आयोजन के लिए 10 हजार लोगों के बैठने के लिए विशाल डोम बनाया गया है। जिसमें सुबह से ही भक्तिों की भीड़ लगी रही। शाम को 501 कलश की भव्य शोभा यात्रा निकाली गई, जो मंदिर से यज्ञ स्थल पहंुची।

                शहर के लोगों ने जगह-जगह कलश यात्रा का स्वागत किया और भगवान से इस महोत्सव की सफल होने की कामना की। बच्चे, बूढ़े महिलाएं और युवा सभी भगवान का जयकारा लगाते हुए यात्रा में शामिल हुए। इसके बाद वैदिक मंत्रोंचारण के साथ यज्ञशाला मंडप में प्रवेश किया गया। जहां आचार्यों ने श्री वरूण महायज्ञ के प्रारंभिक पूजा की। श्री वरूण महायज्ञ के लिए विशाल यज्ञ शाला बनाई गई है। दूसरे दिन 30 जून को शाम 5 बजे से 7 बजे तक कला मंदिर सिविक सेंटर भिलाई में वेद एवं विज्ञान विपय पर संगोप्ठी एवं सत्संग होगा। इसके लिए प्रदेश ही नहीं वरन् पूरे देश से साधु संतों को आगमन हो रहा है, जो इस गोप्ठी में शामिल होंगे।

              इससे बाद 1 जुलाई को अग्रसेन भवन में विचार गोप्ठी का आयोजन किया गया है जिसमें धर्म, आध्यात्म और राप्ट्र से संबंधित जिज्ञासाओं का समाधान किया जाएगा। शाम 5 बजे पुलिस ग्राउंड में धर्म सभा,धर्माेपदेश और आध्यात्मिक प्रवचन होगा। 2 जुलाई को शंकराचार्य जी के 73वां प्राकट्य उत्सव के पावन अवसर पर सुबह 8 से 11 बजे तक रूद्राभिपेक व सामुहिक संुदरकांड पाठ किया जाएगा। सुबह 11 से 1 बजे तक स्वागत अभिनंदन, पादुका पूजन और आषीर्वचन होगा। इसके बाद शाम 6 बजे शंकराचार्य जी भक्तों को दर्शन और दिव्य मार्गदर्शन देंगे।

            महोत्सव के पहले दिन छत्तीसगढ़ पीठ परिपद के अध्यक्ष झम्मन शास्त्री, आनंद वाहिनी की राप्ट्रीय महामंत्री सीमा तिवारी और आदित्य वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष शैलेप पाण्डेय, कार्यक्रम प्रभारी संदीप पाण्डेय, राश्ट्र उत्कर्श समिति के अध्यक्ष प्रफूल्ल शर्मा, बिलासपुर जिला अध्यक्ष अभिशेक पाण्डेय, मनीश पारिख, रोहन तिवारी,नीरज कष्यप, लोकेष थीटे, प्रमोद शुक्ला सहित बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे।

आज आएंगे शंकराचार्य-शैलेष 
प्राकट्य महोत्सव अवसर पर जानकारी देते हुए आदित्य वाहिनी के प्रदेश अध्यक्ष शैलेष पाण्डेय ने बताया कि आज यज्ञ शाला में प्रवेश किया गया है, 29 जून को सुबह 10 बजे भिलाई रेल्वे स्टेशन में शंकराचार्य जी का आगमन होगा, यहां उनका भव्य स्वागत किया जाएगा। उनके स्वागत के लिए रेल्वे स्टेषन से शहर के मुख्य मार्ग में स्वागत द्वार बनाए गए हैं। इसके बाद शंकराचार्य जी का शाम 6 बजे अग्रसेन भवन सेक्टर-6 में दर्षन लाभ मिलेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *