सीयू मे हुआ राष्ट्रीय युवा संसद प्रतियोगिता का आयोजन

youthparliamentबिलासपुर। राष्ट्रीय युवा संसद प्रतियोगिता में विपक्ष द्वारा सरकार के खिलाफ लाया गया अविश्वास प्रस्ताव ध्वनिमत से गिर गया। गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय के रजत जयंती सभागार में कुलपति प्रोफेसर अंजिला गुप्ता की अध्यक्षता में गुरुवार को राष्ट्रीय युवा संसद प्रतियोगिता का आयोजन किया गया जिसके मुख्य अतिथि राज्य सभा के पूर्व सांसद श्रीगोपाल जी व्यास रहे। कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि बिलासपुर विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर जीडी शर्मा थे साथ ही जालंधर से निर्णायक के तौर पर आये दिनेश अरोरा भी शामिल रहे। राष्ट्रीय युवा संसद प्रतियोगिता के मुख्य अतिथि श्रीगोपाल जी व्यास, पूर्व राज्य सभा सांसद ने कहा कि ऐसी प्रतियोगिताएं छात्रों में संगठन क्षमता को बढ़ावा देतीं हैं। 2006 से 2012 तक छत्तीसगढ़ राज्य का राज्य सभा में प्रतिनिधित्व करने वाले व्यास जी ने कहा कि हमारी लोकतंत्र ही हमारी सबसे बड़ी ताकत है। उन्होंने कहा कि सभी राष्ट्रवासियों को अधिकारों के साथ कर्तव्यों के निर्वाहन के प्रति भी गंभीर होने के साथ राष्ट्र निर्माण में अपना सहयोग प्रदान करना चाहिए।

                           कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि प्रोफेसर जीडी शर्मा, कुलपति, बिलासपुर विश्वविद्यालय ने युवा संसद आयोजन एवं मंच पर संसद के प्रतिरूप की तारीफ की। उन्होंने कहा कि हमारा लोकतंत्र अनूठा होने के साथ सराहनीय भी है। हमारे लोकतांत्रिक मूल्यों की वजह से ही हम दुनियाभर में भारत को सम्मान से देखा जाता है। उन्होंने उम्मीद जताई कि केंद्रीय विश्वविद्यालय की टीम इस वर्ष युवा संसद प्रतियोगिता में अव्वल दर्जा हासिल करेगी।

                        युवा संसद प्रतियोगिता कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुए कुलपति प्रोफेसर अंजिला गुप्ता ने कहा कि हमारी लोकतांत्रिक व्यवस्था दूसरों के विचारों को सुनने और स्वीकारने की आजादी देती है। उन्होंने कहा कि भारतीय लोकतंत्र की मजबूती की वजह संसद में हर वर्ग और क्षेत्र के लोगों का एक मौजूद होना है। भारतीय संसद के अनुशासन और विचारों को स्वीकारने की क्षमता का उदाहरण देते हुए कुलपति प्रोफेसर गुप्ता ने कहा कि किसी भी संस्था को मजबूती और विकास के लिए इन आधारभूत सिद्धांतों को समझना चाहिए।

                   इससे पहले अधिष्ठाता छात्र कल्याण प्रोफेसर एसवीएस चौहान ने सभी मंचस्थ अतिथियों का स्वागत किया। युवा संसद प्रतियोगिता के संयोजक डॉ. मनीष श्रीवास्तव ने कार्यक्रम की विषयवस्तु एवं युवा संसद में होने वाले विभिन्न क्रियाकलापों के बारे में विस्तार से जानकारी दी। उन्होंने बताया कि इस वर्ष प्रतियोगिता में देशभर के 55 विश्वविद्यालयों ने हिस्सा लिया है। इन्हें 7 ग्रुप में विभाजित किया गया है, गुरु घासीदास केंद्रीय विश्वविद्यालय ग्रुप ‘डी’ है। जालंधर से आये दिनेश अरोरा जी ने भी विद्यार्थियों का मनोबल बढ़ाते हुए उनके प्रदर्शन की तारीफ की।

                    विपक्ष ने गृहमंत्री से सीमा सुरक्षा और पठानकोट हमले पर सवाल किये तो सरकार ने दुश्मनों को खदेड़ने और सुरक्षा में पूरी तैयारी की बात संसद को बताई। जब विपक्ष ने मानव संसाधन विकास मंत्री से प्राथमिक शिक्षा और उच्च शिक्षा पर सवाल किये तो उल्टे सरकार ने विपक्ष को ही इस मुद्दे पर घेर लिया। मंत्री ने कहा कि प्राथमिक शिक्षा राज्य का मामला है और राष्ट्रीय शिक्षा नीति में उच्च शिक्षा की बेहतरी के लिए विचार किया जा रहा है।

प्रधानमंत्री के अच्छे दिन के वादे पर विपक्ष संसद में अविश्वास प्रस्ताव लाया लेकिन सरकार ने मेक इन इंडिया, सिंचाई की सुविधा, किसानों को सस्ती दर ब्याज, बिजली, स्वच्छता अभियान और बैंक खातों के खोले जाने एवं हजारों नौकरियों के लिए तैयारी करने को लेकर अपना बचाव किया। विपक्ष के अविश्वास प्रस्ताव पर प्रधानमंत्री ने जवाब देते हुए विपक्ष को खुली चुनौती दी कि हम काम कर रहे हैं आपकी छोड़ी हुई समस्याओं को दूर कर रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *