लॉटरी से हुआ ,शराब दुकान का फैसला…..

IMG_20160305_124411बिलासपुर– जिले के शराब ठेके में इस बार फिर से भाटिया ग्रुप का दबदबा देखने को मिला। मंजीत ग्रुप और सिंडिकेट को केवल 14 गुप से संतोष करना पड़ा। भाटिया ग्रुप ने अकेले 14 समूह पर कब्जा किया है।

                           आज बिलासपुर जिले के शराब दुकान की लाटरी निकाली गयी। भारी चौक चौबंद व्यवस्था के बीच जिले के 36 समूह के 71 शराब दुकानों के लिए लाटरी पद्धती से ठेका दिया गया। कलेक्टर अन्बगन पी. और पुलिस कप्तान अभिषेक पाठक के सामने कलेक्टोरेट स्थित मंथन सभागार में नीलामी हुई।

                     कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच हुई नीलामी में अमोलक सिंह भाटिया गु्रप को सबसे ज्यादा 14 ग्रुप का ठेका मिला। भाटिया ग्रुप ने कुल 18 समूह के लिए आवेदन किये थे। जिसमें 14 पर किस्मत ने साथ दिया।  भाटिया गु्प को तोरवा, सिरगिट्टी, सेंदरी, चुचुहियापारा, मल्हार, बोदरी, गनियारी, मोपका, व्यापार विहार, जोधरा, उसलापुर, लिंकरोड, बिल्हा और जूना बिलासपुर की दुकाने मिली हैं।

                      मंजीत गु्प को जेवरा, बिरकोना, रिस्दा, तिफरा, सीपत, गौरेला, मंगला, दयालबंद, सरकंडा, नवागांव, तारबाहर और मस्तुरी का ठेका मिला है। मंजीत गु्रप में यूपी गु्प भी शामिल है। बताया जा रहा है कि इस ठेके ने एक बार फिर से भाटिया गु्प ताकतवर बना है। मालूम हो कि जिले के 36 समूह के लिए 26 हजार 656 आवेदन आए थे, जिसमें से 114 आवेदन निरस्त हो गए थे।

परसदा- ओवदन नहीं
परसदा समूह का ठेका नहीं हो सका। यहां के लिए किसी ने भी आवेदन नहीं किया था। 15 मार्च को फिर से लाटरी निकाली जाएगी। जरूरत पड़ने पर आवेदन मंगाया जाएगा। यदि कोई आवेदन नहीं करता है यहां की देशी-विदेशी मदिरा दुकानों का संचालन आबकारी विभाग करेगा।

कोटा,-एक निरस्त
ठेके में कोटा समूह के लिए मात्र दो आवेदन आए थे। एक आवेदन निरस्त हो गया था। इसी तरह जिले में सर्वाधिक आवेदन लिगियाडीह समूह के लिए आये  थे। मंजीत गु्प के हिस्से में गया। गनियारी समूह के लिए 2263 आवेदन आए थे। भाटिया गु्प के पाले में गया। लिंकरोड समूह के लिए 1420 आवेदन आए थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *