पार्षद के खिलाफ महिला की गुहार

jamin                              नारियल कोठी निवासी एक विधवा महिला ने दयालबंद पार्षद और एक जमीन माफिया के खिलाफ कलेक्टर से गुहार लगाई है। महिला का आरोप है कि भाजपा पार्षद ने आठ साल पहले उससे कोरे स्टाम्प पर अगूंठा लगवाया था। उस समय पार्षद ने बताया कि उसकी जमीन के चारो तरफ नाली का निर्माण कराया जाएगा और उसकी जमीन को सुरक्षित रखने के लिए कोरे कागज पर अंगुठा लगाना जरूरी है। बाद में पार्षद के इशारे पर एक जमीन माफिया ने उसके जमीन पर कब्जा कर लिया है।

                        विधवा बुजुर्ग महिला ने बताया कि जमीन उसके नाना श्वसुर गजराज की है। जमीन पर सैकड़ों मुनगा के झाड़ हैं। परिवार की रोजी रोटी मुनगा बेच कर चलता है। जमीन माफिया ने अब झाड़ को कटवाना शुरू कर दिया है। विरोध करने पर उसने पहले तो 2-3 लाख देने की बात कही अब वह जमीन से हटाने के लिए गुंडों का सहारा ले रहा है। कलेक्टर कार्यालय में गुहार लगाने के बाद महिला आई जी के शरण में भी गयी है। उसका कहना है कि जमीन माफिया योगेश बोले उसे तीन महीने के भीतर हटने को कह रहा है। जबकि यह जमीन उसकी है। इस पर उसका घर भी बना है। लेकिन योगेश बोले का कहना है कि यदि तीन महीने के भीतर जमीन खाली नहीं हुई तो बुलडोजर चलवा देगा।

                         महिला ने बताया कि योगेश बोले का कहना है कि इस जमीन को उसने किसी ठाकुर से 12 लाख रूपए में खरीदा है। जबकि अंगूठा लगवाते समय पार्षद उमेश कुमार और योगेश ने बताया था कि जमीन गजराज की है और अब वे ही लोग किसी ठाकुर का जमीन होना बता रहे हैं। ऐसे में हम लोग अपने 25 सदस्यीय परिवार को लेकर कहां जाएं।

सामाजिक सेवक होने की सजा….उमेश कुमार

पार्षद उमेश चन्द्र कुमार ने सीजी वाल को फोन पर बताया कि मेरा इस पूरे प्रकरण में सिर्फ इतना दोष है कि मै सामाजिक सेवक हूं.जमीन किसने बेचा..और किसने खरीदा मुझे नहीं मालूम…मुझ पर जो आरोप लगाये जा रहे हैं..सरासर गलत है। मैं किसी भी अधिकारी और न्यायलय में पीड़ित के पक्ष में खड़ा होने को तैयार हूं। लेकिन इस पूरे घटनाक्रम में मेरा कहीं हाथ नहीं है।

                                     उमेश चन्द्र कुमार..पार्षद भारतीय जनता पार्टी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *