मेरी नज़र में… Archive

अजीत जोगी की कांग्रेस में वापसी का ‘चेप्टर क्लोज’ राहुल गाँधी लगा गए आखिरी मुहर

(गिरिजेय)“अजीत जोगी लड़ाई के के बीच में कांग्रेस छोड़कर गए है….. जैसे बाघेला जी गुजरात में लड़ाई के बीच में कांग्रेस छोड़कर गए थे ……हम इस चीज को रिवर्ट तो करेंगे नहीं….. क्योंकि हम कांग्रेस को बना रहे हैं ….. और हमें इस तरह के मौका परस्त नेताओँ की जरूरत नहीं है…..। ” यह बात

राहुल गांधी के साथ खुली बात-नॉनस्टाप झूठ बोलते हैं PM मोदी..विपक्ष अब एकजुट..BJP को हराना आसान

बिलासपुर।छत्तीसगढ के दो दिन के दौरे पर आए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गाँधी ने शुक्रवार की सुबह बहतराई स्टेडियम के कार्यक्रम के लिए निकलने से पहले बिलासपुर के संपादकों के साथ खुली बातचीत की। छत्तीसगढ़ भवन में करीब पौन घंटे की बातचीत में उन्होने राष्ट्रीय मुद्दों के साथ छत्सीसगढ़ की राजनीति को लेकर भी खुलकर अपनी

राहुल गाँधी देखेंगे…? छत्तीसगढ़ में ”बदलाव” के लिए खुद कितना “बदल” रही कांग्रेस…

( गिरिजेय ) अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष राहुल गाँधी छत्तीसगढ़ के दौरे पर आ रहे हैं। इस साल होने वाले विधानसाभा चुनाव की तैयारियों के लिहाज से उनका यह दौरा अहम् माना जा रहा है। उनके कार्यक्रम में यह बात खास नजर आती है कि राहुल गाँधी संगठन की मजबूती के लिए आ

बाँधवगढ़ नेशनल पार्क की एक सच्ची कहानी..पिता टाइगर का दिल धड़कता है..अपनी सन्तान के लिए!!

( प्राण चड्ढा )  अवधारण है कि टाइगर मेटिंग के बाद अलग हो जाता है और माँ ही शावकों को पलतीं और शिकार की ट्रेनिंग देती है,पर मध्यप्रदेश के बान्धवग़ढ नेशनल पार्क, में बाघिन मां के मारे जाने पर उनके पिता ‘बमेरा सन’ ने अपने तीन शावको को पाला है। ये तीन शावक इस पार्क

साहेब जी !! बिजली वाले कर रहे डॉ.रमन को हराने का पक्का इंतजाम …?

(गिरिजेय)मौसम की तपिश है….भीषण गरमी है…..उमस है….बेचैनी है….।घर में बिजली है….पंखा है….कूलर है…. एसी है लेकिन कुछ भी चलता नहीं है… चूँकि बिजली नहीं है….। इस लिए गरमी है….. बेचैनी है..। बैरन बिजली कभी भी गुल हो जाती है…या बिजली रहती भी है तो वोल्टेज इतना कम रहता है कि चाहकर भी कुछ चला नहीं

पढे 2013 से कैसे अलग रहेगा 2018 का इलेक्शन सीन..? सोशल मीडिया पर मिल रहे संकेत

(गिरिजेय)यह बात पहले भी कई बार कही जा चुकी है कि 2018 में होने वाला विधानसभा चुनाव सोशल मीडिया के जरिए लड़ा जाएगा ।  इसकी झलक अभी से मिलने लगी है.जिस तरह छत्तीसगढ़ मैं प्रदेश स्तर की राजनीति और लोकल लेबल  पर विधानसभा स्तर की राजनीति में दोनों तीनों  –  पार्टियों के बीच जिस तरह

देखे Video:पांव-पांव नर्मदा किनारे चल रहे दिग्गी ‘राजा’ को ‘फकीरी’ में मिल रहा सुकून..

सीजीवालडॉटकॉम।‘कोई भी राजनैतिक व्यक्ति अगर पाँच-छः महीने से राजनीति से दूर रहे तो, स्वाभाविक है कि वो दिमाग के कीड़े काटने लगते हैं…..। लेकिन अभी तक मुझे अच्छा लग रहा है और सोचने – समझने का मौका मिल रहा है…’’।इस तरह की बात अगर दिग्विजय सिंह जैसे वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कहते हैं तो लगता है

पुरानी कांग्रेस का नया दौर..”विजय अभियान” के लिए एक ”विजय” की ताजपोशी..?

वाक्या करीब 20 साल पुराना है।बिलासपुर के कांग्रेस भवन के पास पार्टी का एक सम्मेलन चल रहा था..।सारे दिग्गज नेता मंच पर पहुंच चुके थे….।सम्मेलन की शुरूआत होने वाली थी…।तभी वहां मौजूद यूथ कांग्रेस के लोगों के बीच से नारेबाजी शुरू है गई…..।यूथ कांग्रेस जिंदाबाद…के नोरों से पंडाल गूँज रहा था। सम्मेलन में वैसे भी

देखें VIDEO:होली विशेष-कहाँ जिंदा है…छत्तीसगढ़ का असली फाग…

बिलासपुर।रंग-उमंग-तरंग का पर्व होली पूरे देश के साथ ही छत्तीसगढ़ में भी काफी उत्साह के साथ मनाया जाता है। जिसमें रंगों के साथ ही फाग का भी अपना महत्व है। देश के दूसरे हिस्सों की तरह छत्तीसगढ़ में भी फाग की समृद्ध परंपरा रही है। नगाड़ा, मादर,टिमकी और झाँझ-मजीरे की धुन पर गाए जाने वाले

चुनाव आहट–डॉ. रमन को जोगी का चैलेंजःदो और दो पाँच बनाने का खेल…

(गिरिजेय )“तूने…अभी देखा नही,,,, देखा है तो जाना नहीं….. जाना है तो माना नहीं…… मुझे पहचाना नहीं…..दुनिया दिवानी मेरी… मेरे पीछे –  पीछे भागे…… किसमें है दम यहां …..ठहरे जो मेरे आगे…..मेरे आगे आना नही…. मुझसे टकराना नहीं….. किसी से भी हारे नहीं हम….. जो सोचे , जो चाहे , वो कर के दिखा दे……