सीएम दरबार मे मस्तूरी पेंशन घोटाले की गूंज

5754-ccरायपुर।मुख्यमंत्री डॉ रमन सिंह ने गुरुवार सुबह अपने निवास मे जनदर्शन कार्यक्रम में आम जनता की समस्याएं सुनी।जंदर्शन कार्यक्रम मे बिलासपुर जिले के मस्तुरी विकासखंड की ग्राम पंचायत ठाकुरदेवा से आए ग्रामीणों के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री से पंचायत के सरपंच द्वारा निर्माण कार्यों और सामाजिक सुरक्षा पेंशन के भुगतान में अनियमितता की शिकायत की।मुख्यमंत्री ने कलेक्टर बिलासपुर को इस प्रकरण की जांच और आवश्यक कार्रवाई के निर्देश जारी किए हैं।बता दें कि कुछ समय पहले ही मस्तुरी विकासखंड के बृद्धों ने कलेक्टर से पेंशन नहीं मिलने की शिकायत की थी। सभी बृद्ध सरपंच के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे थे।सरपंच ने बताया था कि उनकी आधार कार्ड देने के बाद भी सीडिंग नही हुई। जिसके कारण वृद्धों का पेंशन अभी नहीं मिला है।पंचायत पोड़ी के 60 से अधिक बृद्ध पुरूष और वृद्ध महिलाएं सरपंच के कलेक्ट्रेट पहुंचकर पेंशन की गुहार लगाी है। सरपंच रामकुमार के साथ कलेक्ट्रेट पहुंचे वृद्ध महिलाओं ने बताया कि वृद्धा पेंशन 350 रूपए मिलता है। बुढापे में पेंशन एक मात्र सहारा है। पिछले 11 महीन से पेंशन की राशि नही मिली है। जिसके कारण उन्हें भारी परेशानी हो रही है। जरूरत का सामान और दवा भी नहीं खरीद पा रहे हैं। सरपंच से कई बार पूछा लेकिन उसने पेंशन देने से इंकार कर दिया।

                           इस दौरान बिरहुलडीह से आए ग्रामीणों के प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की। मुख्यमंत्री ने उनसे जन कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की स्थिति की जानकारी लेते समय उन्हें बताया कि प्रधानमंत्री आवास योजना के अंतर्गत सभी आवासहीन परिवारों के लिए पक्के मकान बनाये जाएंगे। ग्रामीणों ने मुख्यमंत्री को बताया कि इस योजना में 251 परिवारों ने पक्के मकान के लिए आवेदन दिया है।

                                मुख्यमंत्री के पूछने पर सरपंच बिन्दा पनागर ने बताया कि इनमें से 61 परिवारों के पास पहले से मकान है। मुख्यमंत्री ने सभी 189 आवासहीन परिवारों के लिए पक्के मकान बनवाने की मंजूरी प्रदान कर दी। उन्होंने ग्रामीणों को बताया कि एक लाख 20 हजार रूपए की लागत से मकान बनाये जाएंगे। इसके अलावा महात्मा गांधी राष्ट्रीय ग्रामीण रोजगार गारंटी योजना में 90 दिन की मजदूरी और शौचालय के लिए 12 हजार रूपए की राशि भी सभी परिवारों को दी जाएगी। मुख्यमंत्री ने उनसे कहा कि ईमानदारी से मकानों का निर्माण किया जाए। संसदीय सचिव मोतीराम चंद्रवंशी भी इस अवसर पर उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>