मीटिंग में क्या हुआ…जब कलेक्टर हुए भौचक्क..अधिकारियों को क्यों दी नसीहत

rajsav adhikario ki baithak li collector ne  (4)बिलासपुर—राजस्व अधिकारियों की बैठक में कुछ ऐसी बातें सामने आयी कि कलेक्टर सुनकर हतप्रभ रह गए। एक महिला अधिकारी ने दो टूक कहा कि बिलासपुर तहसील में गरीबों की सुनने वाला कोई नहीं है। यहां रसूखदारों की चलती है। गरीब महीनों और सालों चक्कर लगाए…लेकिन उसे नकल मिलना मुश्किल है। लेकिन एक रसूखदार जब चाहे तब अपनी अकल से नकल निकलवा सकता है। इतना सुनते ही कलेक्टर पी.दयानन्द भौचक्के हो गए। अधिकारी के तरफ देखते रह गए। बैठक के दौरान कलेक्टर ने राजस्व अधिकारियों को फिर जमकर सुनाया। रिकार्ड दुरूस्त करने को कहा।

                        मंथन सभागार में आज कलेक्टर पी.दयानन्द ने राजस्व अधिकारियों की बैठक ली। उन्होने सभी राजस्व अधिकारियों को रिकार्ड दूरूस्त करने को कहा। खासतौर पर पटवारियों,कर्मचारियों और नाजिर,आरआई को बिना लेट लतीफी के रिकार्ड दुरूस्त करने की बात कही। कलेक्टर ने बैठक में मौजूद सभी कर्मचारियों और अधिकारियों से कहा कि किसी काम को बेवजह लटकाकर ना रखा जाए।

          कलेक्टर ने पटवारियों और तहसीलदारों को रिकार्ड अपडेट रखने को कहा। उन्होने बारी-बारी से सभी से जानकारी ली। कामकाज को लेकर प्रगति रिपोर्ट भी लिया।

रसूखदारों को नकल

                शिकायत और बातचीत के दौरान एसडीएम स्तर की एक महिला अधिकारी ने बिलासपुर तहसील की कार्यशैली पर जो कुछ बताया उसे सुनते ही कलेक्टर भौचक्क हो गए। महिला अधिकारी ने बताया कि बिलासपुर तहसील की किसी भी शाखा में केवल रसूखदारों का काम आसानी से होता है। एक गरीब को नकल के लिए सालों इंतजार करना पड़ता है। रसूखदार व्यक्ति दिनों ही नहीं बल्कि सालों का काम मिनटों में निपटाकर चल देता है। उसके काम को प्राथमिकता से लिया जाता है। चाहे वह गलत हो या सही।

                          बैठक में अधिकारी ने कलेक्टर को बताया कि दस रूपए की नकल के लिए गरीब को महीनों कभी कभी सालों चक्कर लगाना पड़ता है। इस बीच दस रूपए की नकल के लिए हजारों रूपए आने जाने में खर्च कर चुका होता है। मामला लोकसेवा केन्द्र से जुडी हो या फिर अभिलेख रिकार्ड शाखा से…। दोनों ही जगह रसूखदारों को आसानी से नकल मिल जाता है। इस आसानी को आराम से समझा जा सकता है।

                                        सीमांकन,बाटांकन,कोर्ट नकल, बी 1,पी1, आधार सीलिंग, अधिकार अभिलेख की नकल हासिल करना गरीबों के लिए बिलासपुर तहसील में मुश्किल ही है। इतना सुनते ही कलेक्टर भौचक्क हो गए। उन्होने अधिकारियों को खिंचाई करते हुए रिकार्ड दुरूस्त करने के साथ निष्ठा और तेजी से काम किए जाने का निर्देश दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>