सत्तू बोले रायपुर-बिलासपुर के विकास में फ़र्क़ क्यों,भाजपा में भयंकर अन्तर्कलह

बिलासपुर— कांग्रेस नेता सत्यनारायण शर्मा ने एक साथ जोगी, भाजपा और मंत्रियों पर निशाना साधा है। पत्रकारों से बातचीत करते हुए सत्यनारायण शर्मा ने कहा कि कांग्रेस फेस को सामने रखकर चुनाव नहीं लड़ती है। भाजपा में फेस होने का सवाल ही नहीं उठता है। मंत्रियों के बीच तालमेल नहीं है। मुख्यमंत्री कौन का सवाल सरोज पाण्डेय ने दिल्ली के इशारे पर किया है। फिलहाल अब भाजपा समझ चुकी है कि छत्तीसगढ़ में परिवर्तन निश्चित है। सरकार कांग्रेस की बनेगी। इसलिए भाजपा में मुख्यमंत्री कौन और अन्तर्कलह की बात सामने आ रही है। सत्यनारायण ने कहा कि बिलासपुर का विकास सुनियोजित तरीके से नहीं किया गया। जबकि बिलासपुर के पास सब कुछ है जो एक बड़े और सुनियोजित शहर के पास होना चाहिए।

                      सवालों का जवाब देते हुए कहा कि पूर्व शिक्षा मंत्री और कांग्रेस नेता ने कहा कि अब तक रायपुर और बिलासपुर के विकास में फर्क नहीं रहना चाहिए था। बल्कि पिछले एक दशक में विकास का फर्क बढ़ गया है। बिलासपुर की जनता परेशान है। सड़क बदहाल है। सिवरेज से लोग डरे हुए है। चलने से डरते है कि कब पैर गड्ढे में चला जाए। जबकि बिलासपुर को रायपुर के समकक्ष खड़े रहने के पर्याप्त कारण हैं। उन्होने बताया कि 15 सौ करोड़ रूपए सिवरेज में बह गए हैं। फिर भी काम पूरा नहीं हुआ। जनता हाय हाय कर रही है।

                       सत्यनारायण शर्मा ने बताया कि यहां जोन है…हाईकोर्ट है…एसईसीएल मुख्यालय है…केन्द्रीय विश्वविद्यालय भी है…। पड़ोसी जिला कोरबा कोयला देता है…जांजगीर पैदावार में रिकार्ड बनाता है। बावजूद इसके बिलासपुर का विकास नहीं हुआ। शर्मा ने बताया कि सरकार का 80 हजार करोड़ का बजट है। लेकिन विकास नहीं हो रहा है। शौचालय निर्माण एंजेसियों को भुगतान नहीं किया गया है। मनरेगा के मजदूर भुगतान के लिए प्रदेश भर में घेराव कर रहे हैं…किसान आत्महत्या कर रहे हैं…आखिर बजट जाता कहा हैं…। कमोबेश सभी को इस बात की जानकारी है।

                                            एक सवाल के जवाब में सत्तू ने कहा कि यदि बिना प्लानिंग के काम किया जाएगा तो उसकी हालत बिलासपुर जैसी होगी। यहां भ्रष्टाचार का बोलबाला है। इंजीनियर को ईई बना दिया गया है। बहुत गड़बड़ी है यहां…। बिलासपुर की बदहाली के लिए बिलासपुर की जनता जिम्मेदार है।

             सरोज पाण्डेय कहती हैं कि भाजपा का अगला मुख्यमंत्री कौन…। सवाल का जवाब देते हुए सत्यनारायण ने कहा कि भाजपा में केवल दो चेहरे हैं। पहला चेहरा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी का और दूसरा अमित शाह का। उन्होने कहा कि दो ही कारण हो सकते हैं कि सरोज पाण्डेय ने यहा सवाल सीएम से किया है। पहला तो यह कि सरोज पाण्डेय समेत यहां के भाजपा नेता प्रदेश भाजपा सरकार की लीडरशिप से नाराज हैं। या फिर दिल्ली के लीडरों ने ऐसा कहलवाया है। यदि गलत है तो सरोज पाण्डेय इसका खण्डन करें। सत्यनारायण ने कहा कि यहां भाजपा के जितने मंत्री उतने ही उनके अंदाज और रंग ढंग हैं। दरअसल भाजपा में इस समय भयंकर अन्तर्कलह है।

                              उन्होने बताया कि इस प्रदेश में आदिवासी लीडरशिप का बोलबाला है। सत्तू ने बताया कि यहां भाजपा के नेता दो तरफा खेल खेल रहे हैं। जितने मंत्री हैं सभी मुख्यमंत्री के दावेदार हैं।

                  सत्यनारायण ने कहा कि राहुल गांधी प्रदेश दौरे पर आने वाले हैं। राहुल गांधी गरीब,मजदूर,किसान,आदिवासी,अनुसूचित जाति के समग्र विकास के पक्षधर हैं। कांग्रेस ने हमेशा इन वर्गों के लिए काम किया है। इसलिए अजीत जोगी का बयान निराधार है कि राहुल गांधी आदिवासियों के शुभचिंतक नहीं हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>