पुनिया बोले- जोगी अब कांग्रेस में नहीं – इस पर बहस उचित नहीं

p l puniaरायपुर ।  अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के छत्तीसगढ़ संगठन के प्रभारी पीएल पुनिया  ने कहा है कि आने वाले 16 माह कांग्रेस के लिये बहुत महत्वपूर्ण है । 2018 में छत्तीसगढ़ एवं 2019 में देश  में आम चुनाव है। उन्होने पत्रकारों से बातचीत के दौरान कहा कि मैं और मेरे सहयोगी सचिव द्वय कमेलश्वर पटेल और अरूण उरांव का निरंतर छत्तीसगढ़ आना जाना लगा रहेगा।  यह कहने में संकोच नहीं है कि कांग्रेस पार्टी छत्तीसगढ़ में बहुत ही मजबूत है। पिछले दो चुनाव मे हार जीत का फैसला बहुत ही कम मार्जिन से हुआ है। 2013 के चुनाव में भाजपा सरकार द्वारा किये गये तमाम हथकंडो के बावजूद महज 0.7 प्रतिशत के अंतर से ही हम सरकार बनाने से रह गये। यह इस बात को दर्शाता है कि कांग्रेस पार्टी यहां पूरी तरह से मजबूत है। निश्चित रूप से 2018 में कांग्रेस की सरकार छत्तीसगढ़ में बनेगी और राज्य की जनता भी यही चाह रही है।
पत्रकारों के प्रश्नों का जवाब देते हुये पुनिया ने कहा कि पुराने अनुभवो और अन्य मापदंडों के आधार पर हाईकमान ने उन्हें यहां प्रभारी के रूप में जिम्मेदारी सौपी है। किसी जाति विशेष की बाते करना उचित नहीं है। सबको साथ एवं समाज के सभी वर्गो का विश्वास अर्जित कर हम छत्तीसगढ़ में सरकार बनायेगे। यही कांग्रेस की हमेशा नीति भी रही है और हमारा यह संकल्प भी है और इसी बात के लिये हम तीनों को कांग्रेस हाईकमान ने जिम्मेदारी सौपी है। प्रदेश का शीर्ष नेतृत्व भी अपनी जिम्मेदारियों को भली-भांति समझता है। सबको साथ में लेकर सरकार बनाने की प्रयास में जुटे हुये है।
पुनिया ने कहा कि पूर्व प्रभारी, महामंत्री हरिप्रसाद  ने छत्तीसगढ़ में कांग्रेस संगठन को मजबूती प्रदान करने के लिये बहुत मेहनत की है। हम उन्ही के काम को आगे बढ़ाकर 2018 के लक्ष्य को पूरा करेगे। हर स्तर पर समन्वय स्थापित करने का पूरा प्रयास किया जायेगा।
उन्होने यह भी कहा कि  यह खबर पूरी तरह भ्रामक एवं गलत प्रचारित हो रहा है  कि हम लोग ( अजीत जोगी ) आईएएस में  एक ही बेच के है। जो पार्टी में नहीं है, जो निष्कासित है, निलंबित है उस पर किसी भी प्रकार से चर्चा या बहस करना उचित नहीं है। जो चला गया वो चला गया। हमारी यह स्पष्ट सोच है कि जो लोग कांग्रेस के नीति एवं सिद्धांतो के प्रति निष्ठा एवं विश्वास रखते है ऐसे लोगो को लेकर ही छत्तीसगढ़ में सरकार बनाने की दिशा में अग्रसर होगे।
भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमितशाह के गत दिनों छत्तीसगढ़ प्रवास पर दिये गये बयान में 65 सीट जीतने के दावे पर कटाक्ष करते हुये कहा कि यह अमितशाह का अहंकार बोल रहा है। विधायको को अमितशाह नहीं, जनता चुनती है। हम शाह जी से पूछना चाहते है वो ये भी बता दें कि हारने वाले 25 सीट कौन-कौन से है? उनकी कही गयी किसी भी बातों पर विश्वास नहीं किया जा सकता क्योंकि बाद में खुद अपनी ही कही गयी बातो को जुमला करार दे देते है।
पत्रकारवार्ता में नवनियुक्त सचिव द्वय कमलेश्वर पटेल, अरूण उरांव, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल, कांग्रेस विधायक दल के नेता टी.एस. सिंहदेव, पूर्व केन्द्रीय मंत्री डॉ. चरण दास महंत, पूर्व अध्यक्ष धनेन्द्र साहू, पूर्व नेता प्रतिपक्ष रविन्द्र चैबे, पूर्व मंत्री सत्यनारायण शर्मा, पूर्व मंत्री मो. अकबर, सांसद ताम्रध्वज साहू, पूर्व विधायक डॉ शिवकुमार डहरिया, रामदयाल उइके, फूलोदेवी नेताम, राजेन्द्र तिवारी, गंगा पोटाई उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>