तिवारी को हटाए जाने पर लिपिक संघ में खुशी…राघवेन्द्र रायपुर अटैच

rohit_tiwari_cgमुंगेली/बिलासपुर— मुंगेली डीएफ़ओ राघवेन्द्र तिवारी को लिपिकों से पंगा लेना महंगा पड़ गया। लिपिक संघ के दवाब में शासन ने ना चाहते हुए भी राघवेन्द्र तिवारी को मुंगेली से रायपुर कार्यालय अटैच कर दिया है। राघवेन्द्र तिवारी 1989 आईएफस अधिकारी हैं। उनके कार्यशैली को लेकर मुंगेली वन विभाग में गहरी नाराजगी थी। खासकर वनमण्डल लिपिक कर्मचारियों ने रोहित तिवारी की अगुवाई में राघवेन्द्र तिवारी के खिलाफ रायपुर में मोर्चा खोल दिया था।

                          छत्तीसगढ़ लिपिक संघ शासकीय कर्मचारी संगठन महामंत्री रोहित तिवारी ने बताया कि डीएफ़ओ की तानाशाही से लिपिक संघ में गहरी नाराजगी थी। संघ ने सरकार से राघवेन्द्र तिवारी को हटाने की मांंग की थी। रोहित ने मुंगेली डीएफओ तिवारी के स्थानांतरण को लिपिक संघ कर्मचारियों की जीत और अफसर शाही की हार बताया है ।

                              छग प्रदेश लिपिक वर्गीय शासकीय कर्मचारी संघ प्रदेश महामंत्री रोहित तिवारी के अनुसार मुंगेली वनमंडलाधीकारी राघवेन्द्र कुमार तिवारी की तानाशाही और अमानवीय रवैये से मुंगेली वनमंडल का कर्मचारी परेशान था। तिवारी ने वनमण्डल प्रमुख रहते हुए मानवीय धर्म को भी तार-तार कर दिया था। कैन्सर पीडित महिला के साथ ना केवल अमानवीय व्यवहार किया। बल्कि केबिन में बुलाकर बेईज्जत भी की।  नौकरी छोड़ने के लिए भी दबाव बनाया।

             तिवारी के व्यवहार से कैंसर पीड़ित महिला कार्यालय मे ही बेहोश हो गयी। कर्मचरियों ने प्राथमिक उपचार कराया। बावजूद इसके अधिकारी का दिल नहीं पिघला। राघवेन्द्र तिवारी की हरकतों से परेशान कर्मचारियों ने संगठन से शिकायत की।

                         प्रदेश महामंत्री रोहित तिवारी ने बताया कि प्रशासनिक आतंक को लिपिक संघ ने कभी बर्दास्त नहीं किया ना करने वाला है। संगठन ने मामले की शिकायत वन मंत्री, मुख्य मंत्री समेत विभाग के बड़े अधिकारियों से की। डीएफ़ओ के एक एक करतूतों को जिम्मेदार लोगों के सामने पेश किया। राघवेन्द्र तिवारी को तत्काल हटाए जाने की मांग भी की।

                          रोहित के अनुसार मामले को गंंभीरता से लेते हुए वन मंत्री महेश गागडा ने तत्काल राघवेन्द्र तिवारी को ना केवल फटकारा बल्कि स्थानांतरण भी किया। रोहित ने बताया कि मुंगेली डीएफ़ओ को मुख्यालय रायपुर संलग्न किये जाने से लिपिकों में खुशी है। संगठन ने संभागीय अध्यक्ष बिलासपुर हेमंत बघेल ,प्रान्तीय प्रचार सचि अशोक मेहता ,राजन रिजवी जिलाध्यक्ष मुंगेली ,हेमंत मानिकपुरी जिला सचिव मुंगेली ,पारितोष दुबे प्रान्तीय सचिव ,दीपक प्रजापति ,मोती लाल यादव ,सहित मुंगेली वन मंडल और अन्य विभागों के लिपिकों ने वन मंत्री से मिलकर तिवारी को हटाए जाने पर धन्यवाद जाहिर किया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>