उपराष्ट्रपति चुनाव:महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी होंगे विपक्ष के उम्मीदवार

gopal_krishna_index_julyनईदिल्ली।गोपाल कृष्ण गांधी को उप राष्ट्रपति पद के लिए विपक्ष ने अपना उम्मीदवार चुना है। गोपाल कृष्ण गांधी महात्मा गांधी के पोते हैं। मंगलवार (11 जुलाई) को 18 विपक्षी पार्टी ने इसके लिए बैठक की थी। बैठक में जनता दल युनाइटेड के भी लोग थे। जबकि उसने राष्ट्रपति चुनाव में अलग स्टैंड लिया था। मीटिंग में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी, उपाध्यक्ष राहुल गांधी, पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, टीएमसी के डेरेक ओब्राइन, सीपीआईएम से सीताराम येचुरी, सपा के नरेश अग्रवाल, नेशनल कॉन्फ्रेंस से उमर अब्दुला, बसपा से सतीश चंद्र मिश्रा और आरएलडी के अजीत सिंह शामिल थे। मीटिंग की शुरुआत में जम्मू कश्मीर में अमरनाथ यात्रा के दौरान मारे गए सात श्रद्धालुओं के लिए दो मिनट का मौन भी रखा गया था।

                                         गोपाल कृष्ण गांधी का जन्म 22 अप्रैल 1945 को हुआ था। उनके पिता का नाम देवदास गांधी और मां का नाम लक्ष्मी था। गोपाल कृष्ण गांधी ने सेंट स्टीफेंस कॉलेज से इंग्लिश लिट्रेचर में मास्टर्स की पढ़ाई की। वहीं गोपाल कृष्ण गांधी कई पदों पर भी रह चुके हैं। 1968 से 1992 तक वह भारतीय प्रशासनिक सेवा में रहे। 1985 से 1987 तक वह उप-राष्ट्रपति के सचिव पद पर भी रहे। इसके बाद साल 1987 से 1992 तक वह राष्ट्रपति के संयुक्त सचिव भी रहे और 1997 में राष्ट्रपति के सचिव भी बने।इसके अलावा गोपाल कृष्ण गांधी यूनिइडेट किंगडम में भारतीय उच्चायुक्त में सांस्कृतिक मंत्री के पद का दायित्व भी संभाल चुके हैं।

                                        साथ ही लंदन में नेहरु सेंटर के डायरेक्टर भी वह रह चुके हैं। गांधी ने लिसोटो में भी भारतीय उच्चायुक्त का पदभार भी संभाला था। गोपाल कृष्ण गांधी, साल 2000 में श्रीलंका में भारतीय उच्चायुक्त, 2002 में नॉर्वे में भारतीय राजदूत और आइसलैंड में भी बतौर भारतीय राजदूत अपनी सेवाएं दे चुके हैं। वहीं 2004 से 2009 तक वह पश्चिम बंगाल के गवर्नर भी रह चुके हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may use these HTML tags and attributes: <a href="" title=""> <abbr title=""> <acronym title=""> <b> <blockquote cite=""> <cite> <code> <del datetime=""> <em> <i> <q cite=""> <strike> <strong>